यूपी के ढाई हजार से ज्यादा मदरसों की मान्यता रद्द हो सकती है

लखनऊ:  सरकार से मिलनेवाले अनुदान का हिसाब किताब नहीं देने की वजह से यूपी के तकरीबन 2682 मदरसों का रजिस्ट्रेशन रद्द हो सकता है। इनमें वो मदरसे हैं जिन्होंने मदरसा पोर्टल पर अबतक अपनी डिटेल जानकारी नहीं दी है। इसे लेकर यूपी सरकार की तरफ से कई बार समय सीमा भी बढ़ाई जा चुकी है। लेकिन इन मदरसों के संचालकों की कानों पर जूं तक नहीं रेंगा। जिसके बाद अब इनकी मान्यता रद्द करने की तैयारी चल रही है।

यूपी सरकार ने अगस्त में मदरसों के लिए पोर्टल बनाया था। जिसमें सभी मदरसों को डिटेल्स देना जरुरी बताया गया था। यूपी सरकार की तरफ से दो बार इसकी तारीख भी बढ़ाई जा चुकी है। योगी सरकार ने 18 अगस्त को मदरसों के लिए वेब पोर्टल जारी किया था। जिस पर मदरसों से उसपर अपने प्रबंध सिमिति के सदस्यों मदरसे में पढ़ाने वाले शिक्षकों, विद्यार्थियों की जानकारी 15 सितंबर तक देने के आदेश दिये थे।

लेकिन राज्य की तकरीबन 19,000 मदरसों में से 2682 मदरसों में इस बारे में जानकारी नहीं दी है। दो बार तारीख आगे बढ़ाने के बाद अब सरकार तारीख को और आगे नहीं बढ़ाएगी। इसलिए ये तय माना जा रहा है कि जानकारी ना देनेवाले मदरसों की मान्यता रद्द होगी। यूपी में मान्यता प्राप्त 19,000 मदरसे हैं। जिनमें आंशिक अनुदान पानेवाले 4600 और 100 प्रतिशत अनुदान पाने वाले 560 मदरसे हैं।

Loading...