welcome-tourist-foreigner

विदेशी पर्यटकों ने भारत आने से क्यों कर लिया तौबा ?

विदेशी पर्यटकों ने भारत आने से क्यों कर लिया तौबा ?




नई दिल्ली: नोटबंदी का असर पर्यटन व्यवसाय पर भी पड़ा है। विदेशी पर्यटकों ने भारत आने का कार्यक्रम फिलहाल टाल दिया है। जिसकी वजह से कई होटलों की बुकिंग कैंसिल की जा चुकी है। इस व्यवसाय से जुड़े लोगों का कहना है कि या तो विदेशी पर्यटकों ने अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया है या फिर उन्होंने अपने आने की तारीख आगे बढ़ा ली है।

इसके पीछे वजह है कैश की कमीं। विदेशी पर्यटक भारत आकर करेंसी बदलवते हैं। लेकिन नोटबंदी के बाद आरबीआई की तरफ से करेंसी बदलवाने के लिए ने गाइडलाइन जारी किये गए हैं। इसमें दिक्कत ये है कि इतने से पर्यटकों की जरुरत पूरी नहीं हो पा रही है। जिसके चलते उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। नोटबंदी लागू होने के बाद कई पर्यटक भी बैंकों की लाइन में लगे देखे गए हैं। ताकि वो एटीएम से पैसे निकाल सकें।

दिसंबर का वक्त पर्यटन के लिहाज से पीक सीजन होता है। लेकिन नोटबंदी के बाद अब पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों का मानना है कि इसबार उनका ये पीक सीजन खाली ही निकल जाएगा। क्योंकि नोटबंदी लागू हुए एक महीना हो चुका है। लेकिन हालात सामान्य नहीं हुए हैं। बैंकों और एटीएम के बाहर अभी भी लंबी लाइन लगी है। ऐसे में इस बात की संभावना कम है कि टूरिस्ट नोटबंदी के बाद बने इस हालात में भारत की तरफ अपना रुख करेंगे।

Loading...

Leave a Reply