nitish-kumar-lalu-yadav

सोमवार और मंगलवार बिहार की राजनीति के लिए है बेहद ही खास

सोमवार और मंगलवार बिहार की राजनीति के लिए है बेहद ही खास

पटना:  अगले दो दिनों में बिहार में काफी कुछ बदल सकता है। हलांकि बदलाव क्या होगा और उसका परिणाम क्या होगा इस बारे में फिलहाल कयास ही लगाए जा रहे हैं। लेकिन इतना तय है कि आरजेडी और जेडीयू के बीच संबंध अब वैसे नहीं रहे जैसे कि 2015 में थे। तो फिर संबंध किस हद तक बिगड़े हैं इसका अंदाजा भी अगले दो दिनों में चल जाएगा।

सोमवार को आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने विधायकों की बैठक बुलाई है। बैठक का एजेंडा क्या है इस बारे में अभी जानकारी बाहर नहीं आई है। लेकिन जिस वक्त ये बैठक बुलाई गई है उससे इस बात का अंदाजा तो लगाया ही जा रहा है कि लालू के घर सीबीआई की छापेमारी के बाद बने हालात को लेकर चर्चा हो सकती है। साथ ही इस बैठक में पूरे प्रकरण पर सीएम नीतीश और जेडीयू की चुप्पी पर भी चर्चा हो सकती है।

इतना ही नहीं होगा बिहार में। अब बात मंगलवार की कर लेते हैं। मंगलवार को जेडीयू ने कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है। आरजेडी की तरह ही जेडीयू की बैठक के एजेंडे के बारे में जानकारी नहीं है। लेकिन अगर टाइमिंग पर गौर करें तो लालू के घर सीबीआई छापेमारी, तेजस्वी पर भ्रष्टाचार का केस और तेज हो रहे तेजस्वी के इस्तीफे पर गहन चिंतन हो सकती है।

जेडीयू की तरफ से सीबीआई छापेमारी वाले पूरे प्रकरण पर रहस्यमयी चुप्पी बरकरार है। यहां तक की जेडीयू के एक भी नेता अबतक लालू से मिलने तक नहीं गए हैं। इस हालत में कार्यकारिणी की बैठक बुलाना कई संभावनाओं को जन्म दे रहा है।

Loading...

Leave a Reply