काशी में पीएम मोदी ने मुसलमानों के दिये ‘साफा’ को सिर पर रखा, कहा स्वीकार है




वाराणसी:  शनिवार को वाराणसी में जब पीएम मोदी का रोड शो मुस्लिम बहुल इलाके से गुजर रहा था तब कुछ ऐसा हुआ जिसके बारे में कम ही लोगों ने अंदाजा लगाया होगा। मोदी का रोड शो वाराणसी के मदनपुरा इलाके से गुजर रहा था। 40 साल बाद ये पहला मौका था जब कोई प्रधानमंत्री इस इलाके से गुजर रहा था। इसलिए इस इलाके में रहनेवाले मुस्लिमों की खुशी का ठिकाना नहीं था।

मदनपुरा से गुजरते वक्त पीएम मोदी हर किसी का अभिवादन स्वीकार कर रहे थे। हलांकि सुरक्षा कारणों से मोदी और मदनपुरा के बाशिंदों के बीच एक निश्चित दूरी जरुर बनी रही। लेकिन चेहरे के हावभाव से ये अंदाजा लग रहा था कि इस दूरी के बावजूद दोनों के मन में करीबी आ चुकी है। मदनपुरा से गुजरते वक्त पीएम मोदी को गुलदस्ता और साफा भेंट किया गया।

मोदी को गुलदस्ता और साफा बुनकर समुदाय के संगठन बुनकर बिरादराना तंजीम बावनी के सरदार मुख्तार महतो ने दिया था। महतो के इस तोहफो को पीएम मोदी ने स्वीकार भी किया। पीएम मोदी ने जब देखा कि महतो उन्हें गुलदस्ता देना चाह रहे हैं तो उन्होंने अपने एसपीजी से उसे ले लेने के लिए कहा। जिसके बाद एसपीजी के जवान महतो से गुलदस्ता लेकर पीएम को दे दिये।

इसके बाद मोदी की नजर उस साफा पर पड़ी जिसे महतो उन्हें भेंट करना चाहते थे। लेकिन दूरी होने की वजह से पीएम मोदी ने उन्हें इशारा किया कि वो साफा को उनकी तरफ उछाल दें। महतो ने ऐसा ही किया। इसके बाद पीएम मोदी ने उस साफा को लेकर अपने सिर पर रख लिया। यानि ये इशारा था मोदी की तरफ से कि उनके दिल में मुस्लिमों को लिए किसी तरह का बैर नहीं है।

Loading...

Leave a Reply