कभी इजरायल के किस्से सुनते थे, अब हमारी सेना का चर्चे हैं- PM Modi

मंडी/नई दिल्ली: प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार नरेंद्र Modi हिमाचल प्रदेश पहुंचे थे। मंच पर संबोधन शुरु करने से पहले Modi ने कहा काशी के सांसद को ‘छोटी काशी’ में सिर झुकाने का अवसर मिला है। PM Modi ने यहां तीन जल विद्युत परियोजना का उद्घाटन किया।

Modi ने कहा ‘हिमाचल आने में मुझे वक्त लगा लेकिन अपनों से मिलने में देरी मायने नहीं रखती। अटल जी के हाथों से शुरु हुए काम के लोकार्पण के लिए मुझे यहां आने का अवसर मिलेगा मैंने ये नहीं सोचा था।‘ Modi ने यहां सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि ‘हमारी सेना के चर्चे देश के साथ साथ विदेशों में भी हो रहे हैं।‘

Modi ने कहा ‘भारतीय सेना किसी से कम नहीं है। सेना की ताकत और उसकी क्षमता पर हमें गर्व है। हमारी सेना के पराक्रम की चर्चा दुनियाभर में हो रही है। पहले दुनिया में इस तरह के मामलों में इजरायल की चर्चा होती थी। लेकिन अब भारत की सेना का नाम सबकी जुबां पर है।‘ PM Modi ने वन रैंक वन पेंशन का जिक्र भी किया।

उन्होंने कहा कि ‘पहले की सरकारें वन रैंक वन पेंशन के नाम पर झूठ बोलती रहीं। कुछ सरकारों ने इस फंड में कुछ पैसे डाल भी दिये। लेकिन जब मैंने पुराना हिसाब देखा तो मामला दस हजार करोड़ का निकला। तब किश्तों में इसका भुगतान करना शुरु किया। वन रैंक वन पेंशन का पहली किश्त दी जा चुकी है।‘

PM Modi की इस रैली में विपक्ष निशाने पर रहा। उन्होंने कहा कि ‘पहले की सरकारें योजनाओं को फाइलों से बाहर नहीं आने देती थीं। मैनें पुरानी फाइलों को ढूंढकर उन योजनाओं को पूरा करने का काम शुरु किया है।‘ PM का मंडी दौरा काफी अहम माना जा रहा है। पड्डल में होनेवाली रैली को बीजेपी ने राजनीतिक परिवर्तन का नाम दिया है। पार्टी को उम्मीद है कि इस तरह की रैली से प्रदेश में राजनीतिक बयार बदलेगी। हिमाचल प्रदेश में अगले साल चुनाव है। उससे पहले प्रधानमंत्री के तौर पर Modi ने हिमाचल में पहली रैली कर एक तरह से चुनावी तैयारियों का शुभारंभ कर दिया है।

Loading...