narender-modi-and-ajit-doval

कुलभूषण जाधव को भारत लाएगी सरकार, अजीत डोभाल ने संभाली कमान

कुलभूषण जाधव को भारत लाएगी सरकार, अजीत डोभाल ने संभाली कमान

नई दिल्ली: पाकिस्तान की में फांसी की सजा पाए कुलभूषण जाधव को भारत लाने की तैयारी हो रही है। इसके लिए भारत सरकार कई स्तर पर बातचीत करेगी। सूत्रों के मुताबिक जाधव को भारत लाने के लिए एनएसए स्तर पर बातचीत होगी। इस मामले में भारत सरकार शीर्ष स्तर पर बातचीत कर सकती है। खास बात ये है कि अगले हफ्ते अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भी भारत आ रहे हैं। उनके साथ भी इस मुद्दे पर चर्चा हो सकती है।

भारतीय नौसेना के पूर्व कमांडर कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद से लगातार पाकिस्तान का झूठ सामने आता जा रहा है। पाकिस्तान ने दावा किया था कि कुलभूषण जाधव भारत का जासूस है और उसे बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया है। लेकिन पाकिस्तान का ये दावा झूठा साबित हुआ।

ये भी पढें :

– सीएम ने एक ही रात में उड़ा दी भूमाफियाओं की नींद, अब खाली करेंगे जमीन

बलोच नेता मेहराब सरजोव ने दावा किया कि पाकिस्तान के पूर्व सेना प्रमुख कियानी के आदेश पर ईरान से कुलभूषण का अगवा किया गया। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान ने फरवरी 2016 में ही कुलभूषण को अगवा किया था। लेकिन तीन मार्च तक ये बात सभी से छिपा कर रखी। सरजोव के बाद जर्मनी के पूर्व राजदूत ने भी कुलभूषण मामले पर सनसनीखेज खुलासा किया। उन्होंने कहा कि कुलभूषण को तालिबान ने पकड़ा और उसे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI को बेच दिया।

ये भी पढें :

– सीएम योगी ने 20 IAS अफसरों के किये तबादले, कई बड़े अधिकारी वेटिंग लिस्ट में डाले गए

भारत सरकार भी लगातार कुलभूषण पर पाकिस्तान के दावे को खारिज करती रही है। सरकार ने साफ कर दिया है कि कुलभूषण को बचाने के लिए ‘आउट ऑफ वे’ जाकर काम करेंगे। जिस कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान भारत का जासूस बता रहा है दरअसल वो भारतीय नौसेना का पूर्व अधिकारी है। उसने नौसेना से प्रीमेच्यॉर रिटायरमेंट ले ली थी। कुलभुषण जाधव 1987 से 2001 तक नौसेना में थे। 2001 में उन्होंने प्रीमेच्यॉर रिटायरमेंट ले ली थी। उसके बाद जाधव अपना कारोबार करने लगा। जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक जाधव ईरान में अपना कारोबार करता था।

जिस पाकिस्तान में जाधव को फांसी की सजा सुना दी गई वो अबतक उसके खिलाफ कोई ठोस सबूत भी पेश नहीं कर सका है। जिसके आधार पर पाकिस्तान ये साबित कर सके कि जाधव भारतीय जासूस है। पाकिस्तान ने दावा किया था कि उसने कुलभूषण जाधव को 6 मार्च 2016 को गिरफ्तार किया। लेकिन 3 मार्च 2016 तक पाकिस्तान ने ये बात सार्वजनिक नहीं की।

Loading...

Leave a Reply