तीसरी सालगिरह पर पीएम मोदी के इस तोहफे से चीन बेचैन हो उठा है

नई दिल्ली:  केंद्र में सरकार बनाए नरेंद्र मोदी को आज तीन साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर देशभर के सैकड़ों शहरों में जश्न मनाया जा रहा है। जिसमें सरकार के मंत्री से लेकर सांसद तक शामिल होंगे। अपनी सरकार के तीन साल पूरे होने पर पीएम मोदी असम जाएंगे। असम जाने की खास वजह है। पीएम मोदी असम में ब्रह्मपुत्र पर बने एशिया से सबसे लंबे पुल का उद्घाटन करेंगे।

ब्रह्मपुत्र पर बने इस पुल का उद्घाटन कर पीएम मोदी देश को एक बेशकीमती तोहफा देने जा रहे हैं। खासबात ये है कि इस पुल के शुरु होने से जहां एक तरफ असम और अरुणाचल प्रदेश के बीच आवागमन आसान हो जाएगा वहीं इस पुल के शुरु होने से चीन की नींद उड़ गई है। लोहित नदी पर ढोला और सदिया के बीच बने इस पुल के शुरु होने से रोजाना पेट्रोल और डीजल में 10 लाख रुपये तक की बचत होगी।

भारत की सुरक्षा के लिए ये पुल एक मजबूत ढाल है। चीन को उसकी हद में रहने के लिए मजबूर करने के लिए ही इस पुल का निर्माण किया गया है। इस पुल का महत्व केवल आम जनता के लिए नहीं बल्कि भारत की रक्षा के लिहाज से भी काफी ज्यादा है। इस पुस से टैंक को भी लाया और ले जाया जा सकेगा। पहले जहां टैंकों को चीनी सीमा तर ले जाने में हप्तों लग जाते थे वहीं अब ये काम मिनटों में किया जा सकेगा।

इस पुल से 60 टन तक के लड़ाकू टैंक ले जाए जा सकेंगे। चीन को भारत की सैनिक शक्ति का एहसास दिलाने के लिए अब टी-72 और टी-90 टैंक कुछ ही मिनटों में चीनी सीमा तक पहुंच जाएंगे।

Loading...