maulana-return-from-pakistan

निजामुद्दीन दरगाह के लापता मौलवी स्वदेश लौटे, पाकिस्तान में ISI ने किया था गिरफ्तार

निजामुद्दीन दरगाह के लापता मौलवी स्वदेश लौटे, पाकिस्तान में ISI ने किया था गिरफ्तार

नई दिल्ली: दिल्ली के हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दो मौलवी आसिफ अली निजामी और उनके भतीजे नजीम अली निजामी सकुशल भारत लौट चुके हैं। दोनों मौलवियों के पाकिस्तन में गायब होने की खबर थी। दोनों मौलवी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मुलाकात करेंगे। सुषमा स्वराज ने रविवार को दोनों मौलवियों के ISI के गिरफ्त से रिहा होने की बात कही थी।




आसिफ निजामी और नजीम निजामी 8 मार्च को लाहौर के दाता दरबार दरगाह में गए थे। लेकिन उसके बाद से उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल रही थी। उनके परिवार का कहना था कि आसिफ निजामी को लाहौर एयरपोर्ट पर अधूरे ट्रैवल डॉक्यूमेंट्स होने की वजह से रोका गया था। जबकि दूसरे मौलवी कराची एयरपोर्ट से लापता हो गए थे।

जिसके बाद भारत के विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान सरकार से संपर्क किया और दोनों मौलवी का पता लगाने को कहा। ये भी कहा गया कि दोनों मौलवी को ISI ने अपने कब्जे में रखा हुआ है। पाकिस्तानी मीडिया में भी कहा जा रहा था कि दोनों को ISI ने गायब किया है।

नाजिम निजामी ने बताया कि पाकिस्तान में उम्मत नाम के अखबार ने हमें RAW का जासूस बताने वाली झूठी खबरें छापी थी। खबर के साथ ही हमारी फोटो भी छाप दी गई थी। वहीं इसपर पाकिस्तान की तरफ से कहा गया था कि आसिफ और नाजिम अपने श्रद्धालुओं से मिलने सिंध के अंदरुनी इलाकों में गए थे। वहां मोबाइल सेवा न होने की वजह से उनका परिवार से संपर्क नहीं हो पा रहा था।

Loading...

Leave a Reply