पूर्व पत्रकार और मंत्री एमजे अकबर पर महिला पत्रकार ने लगाए यौन उत्पीड़न के आरोप

नई दिल्ली:  पूर्व पत्रकार और भारत सरकार में विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर एक महिला पत्रकार ने यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। महिला पत्रकार प्रिया रमानी ने एमजे अकबर को लेकर लंबा चौड़ा लेख लिखा है। जिसमें उन्होंने उस दिन का जिक्र किया है जब मुंबई के होटल में प्रिया एमजे अकबर के साथ होटल के कमरे में अकेली थीं। यही नहीं प्रिया ने ये भी लिखा है कि कई और महिलाएं भी अकबर की सताई हैं। उम्मीद है मेरे सामने आने के बाद अब वो भी सामने आएंगी।

प्रिया ने इसे लेकर ट्विट किये हैं। जिसमें उन्होंने एमजे अकबर के बारे में लिखा है। ट्वीटर पर आर्टिकल पोस्ट करते हुए उन्होंने लिखा ये एम जे अकबर के साथ मेरी कहानी है। कभी उनका नाम नहीं लिया क्योंकि उन्होंने कुछ नहीं ‘किया’ था। कई महिलाओं के पास इस शिकारी को लेकर और घटिया कहानियां हैं। संभव है इसके बाद वो अपनी कहानी साझा करें।


“ये तथ्य एमजे अकबर के बारे में लिखने से शुरु कर रही हूं। उनके बारे में बहुत सारी महिलाओं के बुरे अनुभव हैं। उम्मीद है वो भी इसे साझा करेंगी। आपने मुझे करियर का पहला पाठ पढ़ाया। मैं 23 की थी और आप 43 के। ….सभी लोग कहते थे आपने पत्रकारिता को बदल दिया है। इसलिए मैं आपकी टीम का हिस्सा बनना चाहती थी। …मुंबई के एक होटल में इंटर्व्यू के लिए लॉबी से मैंने आपको फोन किया। आपने कहा आ जाओ। तब शाम के 7 बज रहे थे। जब मैं होटल के रुम में पहुंची तो वहां का माहौल डेटिंग का ज्यादा था इंटर्व्यू का कम। आपने मुझे ड्रिंक ऑफर किया मैंने मना कर दिया। आपने वोदका ली। एक छोटे टेबल पर मैं और आप आमने सामने थे।… आपने हिंदी फिल्म का पुराना गाना गुनगुनाया और मुझसे संगीत में मेरी रूची के बारे में पूछा। रात बढ़ रही थी और मुझे घबराहट हो रही थी। कमरे में बिस्तर था आपने कहा यहां आ जाओ यहां बैठ जाओ। मैंने कहा मैं कुर्सी पर ही ठीक हूं। उस रात मैं बच गई। आपने मुझे काम दे दिया। उसके बाद मैंने कई महीने आपके साथ काम किया। लेकिन तय कर लिया कभी आपसे अकेले कमरे में नहीं मिलूंगी। …. आपके यहां जो भी नई लड़की काम करने आती थी आप उसपर अपना अधिकार समझते थे। उनसे कहते थे मेरी तरफ देखो, पूछते थे क्या तुम्हारी शादी हो गई है। कंधा रगड़ते थे। आप भद्दे फोन कॉल और मैसेज करने में एक्सपर्ट हैं। आप जानते हैं कैसे चुटकी काटी जाए। थपथपाया जाए जकड़ा जाए। आपके खिलाफ बोलने की काफी कीमत चुकानी पड़ती है। ज्यादातर युवा महिलाएं यह कीमत अदा नहीं कर सकतीं…।”

ये पहला मामला नहीं है जब किसी मीडियाकर्मी पर #MeToo के तहत ऐसे आरोप लगे हैं। ये जरुर है एमजे अकबर जैसा बड़ा नाम पहली बार सामने आया है। इसके अलावे हिंदुस्तान टाइम्स के प्रशांत झा और द क्विव के मेघंद बोस के नाम सामने आ चुके हैं।”

इसे भी पढ़ें

रेप के आरोप में घिरे टीवी के ‘संस्कारी बाबू’ आलोक नाथ, महिला प्रोड्यूसर का आरोप
Loading...

Leave a Reply