mayawati fear to loss of Swami Prasad Maurya

स्वामी प्रसाद मौर्य के जाने से मायावती को भी नुकसान का डर सता रहा है?

स्वामी प्रसाद मौर्य के जाने से मायावती को भी नुकसान का डर सता रहा है?

स्वामी प्रसाद मौर्य BSP के लिए भूतकाल बन चुके हैं। उस भूतकाल को वर्तमान में पार्टी भूल जाना चाहती है। क्योंकि उसे भविष्य की तैयारी करनी है। BSP का भविष्य 2017 का विधानसभा चुनाव है। जिसमें पार्टी जीत दर्ज करना चाहती है। लेकिन पार्टी के वर्तमान और भविष्य के बीच भूतकाल बन चुके स्वामी प्रसाद मौर्य को नजरअंदाज करना पार्टी के लिए इतना आसान नहीं हो रहा। मायावती भले ही कह रही हों कि ‘अगर मौर्य पार्टी नहीं छोड़ते तो उन्हें निकाल दिया जाता, परिवारवाद से बंधे थे मौर्य, पार्टी को छोड़कर मौर्य ने एहसान किया है। यही नहीं अब तो मायावती ने यहां तक कह दिया कि स्वामी प्रसाद मौर्य गद्दार थे।‘

मौर्य के पार्टी छोड़ने के बाद अबतक दो बार मीडिया के सामने आ चुकी हैं मायावती। लेकिन दूसरी बार जब वो मीडिया के सामने थी और मौर्य पर जुबानी हमला कर रही थी तो उसमें गौर करनेवाली बात भी थी।

मायावती ने कहा मौर्य के जाने से साक्य,मौर्य, कुशवहा और सैनी समाज को लेकर पार्टी भेदभाव नहीं करेगी। पार्टी के लिए ये समाज अब भी पहले जैसे ही सम्मानित हैं। दूसरी बार मीडिया के सामने आई मायावती की कोशिश स्वामी को गद्दार ठहराकर साक्य,मौर्य, कुशवहा और सैनी समाज को अपने साथ जोड़कर रखने की थी। पार्टी की तरफ से ये कोशिश भी की जा रही है कि कम से कम इनकी नजरों में स्वामी प्रसाद मौर्य को ही अपराधी करार दिया जाए। क्योंकि इसी समाज की पकड़ रखने की वजह पार्टी ने मौर्य को अपने साथ जोड़े रखा था। और एक सत्य ये भी है कि इस समाज की अनदेखी कर चुनाव में जीत हासिल करना खासकर मायावती के लिए बेहद मुश्किल है। और इसी समाज पर पकड़ की वजह से समाजवादी पार्टी को ‘गुंडों की पार्टी’ कहने के बावजूद सीएम अखिलेश को मौर्य के बारे में कहना पड़ा कि ‘गलत पार्टी में सही व्यक्ति चले गए थे।‘ साक्य,मौर्य, कुशवहा और सैनी पर इसी पैठ की वजह से BJP ने भी अपने द्वारपालों आदेश दे रखा है कि यदि स्वामी प्रसाद मौर्य की गाड़ी आती दिखाई दे तो दरवाजा खोल देना।

एक मौर्य को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर BJP पहले ही दलित वोट बैंक पर नजर गड़ाए बैठी है। अब ये दूसरे मौर्य को साथ लाकर BJP उस वर्ग के वोट पर अपने नाम से सौ फीसदी पेटंट का सर्टिफिकेट हासिल करना चाहती है।

-Swami Prasad Maurya, Mayawati, BSP

Loading...

Leave a Reply