मोदी की कड़क चाय पर भड़की मायावती, कहा गाजीपुर रैली में लोगों को दिये गए पैसे




लखनऊ: यूपी के गाजीपुर से पीएम नरेंद्र मोदी ने विपक्ष की बौखलाहट की वजह बताई थी। मोदी ने कहा था कि इसबार कड़क चाय बनाई है। जो गरीबों को पसंद आती है लेकिन अमीरों को नहीं पसंद होती। मोदी ने मायावती पर निशाना साधते हुए कहा था कि नोटों की हार इतनी मोटी होती थी कि मुंडी नजर नहीं आती थी।

पीएम मोदी के इस वार का जवाब बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने दिया। मायावती ने कहा कि गाजीपुर में मोदी की रैली में बिहार से लोगों को बुलाया गया। लोगों को रैली में लाने के लिए बस और ट्रेन फ्री कर दी गई। यहीं नहीं रुकीं मायावती उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि लोगों को रैली में आने के बदले ढाई सौ रुपये दिये गए।

मायावती ने आगे कहा नोटबंदी गरीबों के खिलाफ है। नोटबंदी का विरोध करते हुए मायावती ने कहा कि 500 और 1000 के नोट बंद होने से अमीरों की नींद नहीं उड़ी है। बल्कि गरीबों की नींद खत्म हो गई है। दरअसल पीएम मोदी ने गाजीपुर में कहा था कि नोटबंदी के बाद गरीब चैन से सो रहे हैं लेकिन अमीरों की नींद उड़ गई है। मायावती के आरोप का जवाब बीजेपी ने दिया।

बीजेपी की तरफ से श्रीकांत शर्मा ने कहा कि मायावती दलित की नहीं बल्कि दौलत की बेटी हैं। जहां बीएसपी में पैसे लेकर टिकट दिये जाते हैं ये बात सभी को पता है। उन्होंने कहा कि जल्द ही उनकी (मायावती) सच्चाई भी जनता के सामने होगी। बीजेपी ने उनके भतीजे का भी जिक्र किया। बीजेपी ने कहा मायावती के पास घोटाले के पैसे हैं। नोटबंदी किसी राजनीतिक पार्टी के खिलाफ नहीं है, बल्कि गरीबों का हक मारनेवालों के खिलाफ है।

Loading...