संयुक्त राष्ट्र ने मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किया

नई दिल्ली:  अंतरराष्ट्रीय मंच पर एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी मिली है। भारत सरकार की कूटनीती के सामने चीन को झुकना पड़ा और जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को वैश्विस आतंकवादी घोषित करने के प्रस्ताव का समर्थन करना पड़ा। पिछले 10 सालों में चीन ने चार बार मसूद अजहर के मामले पर वीटो पावर का इस्तेमाल किया था। लेकिन इसबार उसे अपना रुख बदलना पड़ा।

मसूद अजहर ही पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए हमले का मास्टरमाइंड है। उसके बाद से ही भारत लगातार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित कराने की कोशिश कर रहा था। जिसमें पुलवामा हमले के 75 दिन बाद भारत को अपनी कोशिश में कामयाबी मिली।

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के लिए सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस लगातार कोशिश कर रहे थे। लेकिन चीन का वीटो हर बार अड़ंगा साबित हो रहा था। पिछले 10 सालों में चीन ने चार बार अपने वीटो का इस्तेमाल कर मसूद को बचाया था लेकिन पांचवीं बार मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के प्रस्ताव पर वह राजी हो गया।


संयुक्त राष्ट्र में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले राजदूत सैयद अकबरुद्दीन ने इसकी जानकारी ट्विटर पर दी। उन्होंने कहा मसूद अजहर को वैश्विक आतंती घोषित कर दिया गया है। सहयोग के लिए सभी का धन्यवाद।

(Visited 40 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *