औरंगाबाद में नक्सली-CRPF में मुठभेड़ में 10 कोबरा कमांडो शहीद

औरंगाबाद/ बिहार: बड़े हमले को अंजाम देने के लिए मीटिंग करने जुटे नक्सलियों के मूंसूबे तो नाकाम हो गए। लेकिन नक्सली और CRPF के बीच हुए मुठभेड़ में CRPF के 10 जवान शहीद हो गए। इस मुठभेड़ में 6 नक्सली भी मारे गए। CRPF के सभी जवान कोबरा बटालियन के थे। मुठभेड़ में कई जवान घायल भी हो गए। जिन्हें हेलीकॉप्टर के जरिये पटना लाया गया। जिसके बाद सभी घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया।

सोमवार को औरंगाबाद-गया जिले के बॉर्डर के पास सोनदाहा के जंगल में ये मुठभेड़ हुई। इस जंगल में नक्सलियों ने लैंडमाइन्स बिछा रखा था। जब CRPF के जवान वहां सर्च ऑपरेशन करने पहुंचे तो उन्होंने उसमें ब्लास्ट कर दिया। जिसके बाद मुठभेड़ शुरु हुआ। दोनों तरफ से सैंकड़ों राउंड गोली चली। मुठभेड़ खत्म होने के बाद सुरक्षाबलों ने वहां से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किये हैं।

सोनदाहा के जंगल में नक्सली किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए मीटिंग करने जुटे थे। इसकी खुफिया जानकारी CRPF तक पहुंची। जिसके बाद औरंगाबाद पुलिस, कोबरा 205 और CRPF के सैंकड़ो जवान जंगल की तरफ रवाना हुए। नक्सली जब जंगल में मौजूद थे तभी वहां CRPF के कोबरा कमांडो सर्च ऑपरेशन करने पहुंचे। इसकी भनक जब नक्सलियों को लगी तो उन्होंने लैंड़माइंस ब्लास्ट कर CRPF की टुकड़ी पर हमला कर दिया। नक्सलियों के साथ देर रात तक मुठभेड़ जारी रही।

CRPF के डीजी दुर्गा प्रसाद ने घटनास्थल का दौरा करने के बाद इसकी जानकारी गृह मंत्री राजनाथ सिंह को दी। जिसके बाद गृह मंत्री ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से फोन पर बात की।
-Maoist ambush leaves 10 CRPF cobra commandos dead

Loading...