यूपी में कई IAS अधिकारियों ने नहीं सौंपा संपत्ति का ब्यौरा

लखनऊ: यूपी में जब योगी सरकार आई थी तब उन्होंने राज्य के सभी IAS अधिकारियों से संपत्ति का ब्यौरा सौंपने को कहा था। इसके लिए उन्हें 15 दिनों का वक्त दिया गया था। राज्य सरकार की तरफ से दी गई समय सीमा 6 अप्रैल को खत्म हो रही है यानि गुरुवार को। लेकिन अबतक अधिकारियों ने अपनी संपत्ति का ब्यौरा नहीं सौंपा है। जिसके बाद अब इस डेडलाइन को आगे बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है।

योगी सरकार ने अधिकारियों को 20 मार्च को ये निर्देश दिया था कि वो अपने संपत्ति का ब्यौरा 15 दिनों में जमा कराएं। लेकिन अबतक ब्यौरा पेश नहीं किया है कई अधिकारियों ने। इसलिए विभाग चाहता है कि संपत्ति का ब्यौरा देने की तारीख 15 अप्रैल तक कर दी जाए। इसके लिए विभाग ने मुख्य सचिव को प्रस्ताव भेजा है।

ये भी पढें :

-दो महीने तक कोमा में रहने के बाद अब फिट है आतंकियों का काल ‘चेतन चीता’

-भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने के लिए मध्यस्थ बनना चाहते हैं डॉनल्ड ट्रंप

माना जा रहा है कि इसके जरिये सरकार, राज्य में भ्रष्ट अफसरों पर नकेल कसने की तैयारी में है। क्योंक अधिकारी जब एक बार अपनी संपत्ति का ब्यौरा सरकार को सौंप देंगे तो उसके बाद उसमें होनेवाली बढ़ोतरी पर नजर रखी जा सकेगी। जिस अधिकारी की संपत्ति कम वक्त में बेतहाशा बढ़ेगी सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकेगी।

Loading...