सावन में भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए इस विधि से करें पूजा मनोकामना पूरी होगी

नई दिल्ली:  सावन मास में शिवालय के बाहर भक्तों की लंबी कतार कोई नई बात नहीं है। अपीन भक्ति से भगवान शिव की आराधना कर उन्हें प्रसन्न कर मनोकामना पूर्ति के लिए भक्त काफी जतन करते हैं। ये बात सत्य है कि भगवान शिव काफी भोले हैं और वो भक्त की भक्ति से शीघ्र प्रसन्न हो जाते हैं। लेकिन शिव की आराधना से आपकी मनोकामना पूर्ण इसके लिए जरुरी है कि आपके पूजन की विधी सही हो।

इस बार के सावन में खास बात ये है कि इसबार सावन की शुरुआत भगवान भोलेनाथ को प्रिय दिन सोमवार से हो रही है। काफी सालों बाद संयोग बना है जब सावन की शुरुआत सावन सोमवार के दिन से हो रही है। इसबार सावन में 5 सोमवार का संयोग है। प्रथम सावन सोमवार 10 जुलाई को, दूसरा 17 जुलाई को, तीसरा 24 जुलाई, चौथा सोमवार 31 जुलाई और 7 अगस्त को 5वां सोमवार होगा।

पूजन में रखे इन बातों का ध्यान

सावन के महीने में शिवलिंग की करें पूजा

शिवलिंग जहां स्थापित हो पूर्व दिशा की ओर मुख करके नहीं बैठें

शिवलिंग के दक्षिण दिशा में ही बैठकर पूजन करें

ये होता है अभिषेक का फल

दूध से अभिषेक करने पर परिवार में कलह, मानसिक पीड़ा में शांति मिलती है

घी से अभिषेक करने पर वंशवृद्धि होती है

इत्र से अभिषेक करने पर भौतिक सुखों की प्राप्ति होती है

जलधारा से अभिषेक करने पर मानसिक शान्ति मिलती है

शहद से अभिषेक करने पर परिवार में बीमारियों का अधिक प्रकोप नहीं रहता

गन्ने के रस की धारा डालते हुये अभिषेक करने से आर्थिक समृद्धि व परिवार में सुखद माहौल बना रहता है

गंगा जल से अभिषेक करने पर चारो पुरूषार्थ की प्राप्ति होती है

अभिषेक करते समय महामृत्युंजय का जाप करने से फल की प्राप्ति कई गुना अधिक हो जाती है

सरसों के तेल से अभिषेक करने से शत्रुओं का शमन होता।

Loading...