विपक्ष का हंगाम: 39 भारतीयों की हत्या पर लोकसभा में बयान नहीं दे सकीं विदेश मंत्री

नई दिल्ली:  इराक में मारे गए 39 भारतीयों पर राज्य सभा में बयान देने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज लोकसभा में बयान देने पहुंची थीं। लेकिन विपक्ष के हंगामे की वजह से वो अपना बयान पूरा पढ़ नहीं सकीं। लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने भी हंगामा कर रहे विपक्षी सांसदों को शांत होकर इस दुखद घटना पर विदेश मंत्री के बयान को सुनने की अपील की। उनके इस अपील का हंगामा कर रहे विपक्षी सांसदों पर कोई असर नहीं हुआ। हंगामे की वजह से सुषमा स्वराज लोकसभा में बयान नहीं दे सकीं।

सुषमा स्वराज ने कहा कि दिन के डेढ़ बजे इस मामले पर इराक में प्रेस काफ्रेंस की जाएगी। जिसमें पूरी जानकारी दी जाएगी। लेकिन वो सारी जानकारी आपकी विदेश मंत्री के पास है इसलिए आप उसे सुनें। लेकिन इसपर भी विपक्ष का हंगामा शांत नहीं हुआ।

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने सवाल उठाया कि भारतीयों की मौत दुखद है। लेकिन जब सरकार को पता था कि उनकी मौत हो चुकी है तो फिर इतने सालों से सरकार ने उनका परिवार वालों को ये दिलासा क्यों दिया कि उनकी तलाश की जा रही है।

हलांकि सुषमा स्वराज पहले ही साफ कर चुकी थीं कि वो पूरे सबूत के साथ सदन में आना चाहती थीं। और आज उनके पास इस बारे में पूरे सबूत हैं।

इसे भी पढ़ें

इराक में मारे गए 39 भारतीयों के शव भारत लाए जाएंगे, पहाड़ खोदकर निकाले शव

Loading...