लोकसभा में UAPA संशोधन बिल पास, देशद्रोहियों के लिए खतरे की घंटी

नई दिल्ली:  संसद के बजट सत्र में लोकसभा में बुधवार को UAPA संशोधन बिल पास हो गया। हलांकि इस बिल के विरोध में विपक्ष का हंगामा भी जारी रहा। अधीर रंजन चौधरी ने बिल को स्टैंडिंग कमेटी में भेजने की मांग की। लेकिन अपनी इस मांग को पूरा होता न देख कांग्रेसी सांसद सदन से वाकआउट कर गए। बिल पर विपक्ष ने डिविजन ऑफ वोट की मांग की। जिसके बाद वोटिंग के जरिये इस बिल को पास किया गया। बिल के पक्ष में 287 वोट पड़े जबकि विरोध में केवल 8 वोट पड़े। इसके बाद सदन ने विधेयक को मंजूरी दे दी।

UAPA संशोधन विधेयक पर चर्चा का जवाब देने के क्रम में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि विपक्ष में रहते हुए भी हमने आतंक के खिलाफ कठोर कानून की मांग की थी। अब जो कानून लाया गया है उससे हमारी एजेंसियां आतंकी और आतंक से चार कदम आगे चलेंगी। सरकार की प्राथमिकता है कि आतंक को समूल नष्ट किया जाए। आतंकी गतिविधि में शामिल रहनेवालों को आतंकी घोषित किये जाने के प्रावधान की काफी जरुरत है। अगर किसी व्यक्त के मन मे आतंकवाद है तो केवल संस्था पर प्रतिबंध लगाना ही काफी नहीं होगा।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आतंकवाद को जड़ से खत्म करने के लिए देश में कठोर से कठोर कानून की जरुरत है। और जो अर्बन माओइज्म के लिए काम कर रहे हैं उनके लिए जरा भी संवेदना नहीं है। एनआईए का अधिकार क्षेत्र देशभर में है। राज्यों के एसपी के अधिकार के साथ इस कानून में कोई छेड़छाड़ नहीं की गई है। इनके पास केवल किसी की संपत्ति को अटैच करने का अधिकार होगा ना कि उसे कुर्क करने का। कुर्क करने का अधिकार कोर्ट का है।

(Visited 26 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *