CBI छापेमारी के बाद लालू यादव ने मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने की कसम खाई

रांची:  रेल मंत्री रहते रेलवे के होटलों के लिए टेंडर देने में गड़बड़ी के मामले में सीबीआई ने बड़ी कार्रवाई की है। शुक्रवार को सीबीआई ने लालू यादव के घर और उनसे जुड़े 12 ठिकानों पर छापेमारी की। सीबीआई की टीम पटना में लालू की पत्नी राबड़ी देवी के घर पर सुबह 6 बजे पहुंच गई थी। जिसके बाद से कई घंटों तक छापेमारी चलती रही। जिस वक्त सीबीआई ने ये छापेमारी की तब लालू रांची में थे। पशुपालन घोटाले के मामले में रांची में उनकी पेशी थी।

लालू ने कहा मेरा इसमें कोई लेना देना नहीं है। ये सबकुछ मुझे केवल बदनाम करने के लिए किया जा रहा है। मैंने रेल मंत्री रहते जो भी काम किया वो सबकुछ सिस्टम से किया। उन्होंने कहा जिस गड़बड़ी के आरोप मुझपर लगाए जा रहे हैं वो एनडीए के कार्यकाल में हुआ था। मेरे रेल मंत्री रहते केवल उसे मंजूरी दी गई थी। उन्होंने कहा मैं रांची में हूं, मेरा परिवार पटना में और छापे चल रहे हैं। लालू ने बीजेपी-आरएसएस पर अपने खिलाफ साजिश करने का आरोप लगाया।

लालू ने रांची में प्रेस कांफ्रेंस कर अपनी बात कही। आरजेडी सुप्रीमो ने कहा हम नरेंद्र मोदी को हटाकर दम लेंगे। दरअसल 1999 में आईआरसीटीसी का गठन हुआ। 2002 में काम शुरु हुई। 2003 में रेलवे ने होटल यात्री निवास को आईआरसीटीसी को सौंप दिया। 2006 में आईआरसीटीसी ने ओपन टेंडर शुर किया।

लालू पर हुई इस छापेमारी के बाद बिहार की सियासत में भी सरगर्मी बढ़ गई है। बीजेपी ने सीएम नीतीश कुमार से पूछ है कि आरजेडी के खिलाफ कब कार्रवाई होगी। लालू के बेटे तेजस्वी यादव नीतीश सरकार में मंत्री हैं और वो बिहार के डिप्टी सीएम भी हैं। वहीं तेज प्रताप नीतीश सरकार में स्वास्थ्य मंत्री हैं। सीबीआई ने शुक्रवार की छापेमारी के बाद लालू यादव, उनकी पत्नी राबड़ी देवी और बेटे तेजस्वी यादव के खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया है।

Loading...

Leave a Reply