AAP में विश्वास की जीत, अमानतुल्लाह पार्टी से सस्पेंड जानिये कैसे सुलझा विवाद

नई दिल्ली:  आम आदमी पर्टी में जिस टूट की आशंका जताई जा रही थी वो अब टल चुकी है। कुमार विश्वास ना साफ किया है कि वो आम आदमी पार्टी इस्तीफा नहीं देंगे। वहीं कुमार विश्वास को बीजेपी और आरएसएस का एजेंट बताने वाले AAP के विधायक अमानतुल्लाह को पार्टी ने सस्पेंड कर दिया है। कुमार विश्वास ने पार्टी में बने रहने के लिए अमानतुल्लाह को पार्टी से बाहर करने की शर्त रखी थी।

कुमार विश्वास के मामले पर बुधवार को पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल के घर पर पीएसी की अहम बैठक हुई। जिसमें कुमार विश्वास ने ये एलान किया कि वो पार्टी से इस्तीफा नहीं देंगे। कुमार विश्वास के इस एलान के बाद मनीष सिसोदिया ने जानकारी दी कि अमानतुल्लाह को पार्टी की सदस्यता से सस्पेंड कर दिया गया है। पीएसी की इसी बैठक में कुमार विश्वास को राजस्थान का प्रभारी भी बनाया गया है। अमानतुल्लाह ने कुमार विश्वास पर जो आरोप लगाए थे और पिछले दिनों उन्होंने जो बयान दिये थे उसकी जांच कमेटी करेगी।

इसे भी पढ़ें

हरियाणा में अधिकारी ने विभाग के व्हाट्सएप ग्रुप में डाल दिया पॉर्न वीडियो

पार्टी में बने रहने के लिए कुमार विश्वास की तरफ से अमानतुल्लाह को पार्टी से बाहर करने की प्रमुख शर्त रखी गई थी। जिसमें बाजी कुमार विश्वास के नाम रही। इससे पहले कुमार विश्वास ने मंगलवार को कहा था कि वो आज रात कोई फैसला लेंगे। जिसके बाद आम आदमी पार्टी के बडे नेताओं के बीच हलचल भी काफी तेज हो गई थी। पार्टी के बड़े नेता अरविंद केजरीवाल, संजय सिंह, मनीष सिसोदिया पार्टी पर दोबारा विश्वास का विश्वास कायम करने के लिए उनके घर रातभर पर जमे रहे थे।

अगली स्लाइड में पढ़ें कुमार विश्वास की तीन शर्त क्या थी?

Loading...

Leave a Reply