बिक गया विजय माल्या का गोवा वाला किंगफिशर विला, जानेंगे नहीं किसने खरीदा

नई दिल्ली: काफी कोशिशों और कई दौर की नीलामी के बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की अगुवाई में विजय माल्या के गोवा वाले किंगफिशर विला को बेचने में कामयाबी हाथ लगी। गोवा का किंगफिशन विला 73.01 करोड़ रुपये में बेच दिया गया। इसे मूवी प्रॉडक्शन कंपनी विकिंग मीडिया ऐंड एंटरटेनमेंट ने प्राइवेट डील के तहत खरीदा है।

इस नीलामी से जुड़े अधिकारियों ने ये जानकारी दी। गोवा के किंगफिशर विला को नीलाम करने में मिली कामयाबी बैंकों के लिए थोड़ी राहत वाली खबर जरुर है। क्योंकि 9000 करोड़ का कर्ज देकर बैंक अब ये सोच रहे हैं कि माल्या तो फरार हो चुका है उनका पैसा वापस कैसे मिलेगा। माल्या ने किंगफिशर एयरलाइंस के लिए कर्ज लेते वक्त अपनी जिन संपत्तियों को आधार बनाया था उनमें गोवा का किंगफिशर विला भी शामिल था।

ये भी पढें :

-कपिल के कॉमेडी शो में काम करने पर HC ने सिद्धू को दी बड़ी सीख

-नेशनल फिल्म अवॉर्ड: ‘नीरजा’ को बेस्ट फिल्म और अक्षय बने बेस्ट एक्टर
हलांकि इस नीलामी के बारे में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के अधिकारियों ने कुछ भी नहीं कहा है। दूसरी तरफ विकिंग मीडिया ऐंड एंटरटेनमेंट की तरफ से भी इसपर कुछ नहीं कहा गया है। बैंकों को माल्या से 9000 करोड़ रुपये वसूलना है। इससे पहले गोवा के किंगफिशर विला को नीलाम करने की तीन कोशिशें नाकाम हो चुकी थी।

अक्टूबर 2016 में पहली बार इसे बेचने की कोशिश की गई थी। तब इसका रिजर्व प्राइस 85.29 करोड़ रखा गया था। उसी साल दिसंबर में इसका रिजर्व प्राइस घटाकर 81 करोड़ कर दिया गया। लेकन कोई खरीदार नहीं मिला। इसके बाद मार्च 2017 में इसका रिजर्व प्राइस 73 करोड़ रुपये कर दिया गया। लेकिन ये तीसरी कोशिश भी नाकाम रही।

बैंकों को सरफेसी एक्ट के तहत ये अधिकार है कि अगर दो कोशिशों में डिफॉल्टर की संपत्ति बेचने में कामयाबी नहीं मिलती है तो वो प्राइवेट डील के तहत इसे बेच सकते हैं। जिसमें संपत्ति को आखिरी बार तय की गई रिजर्व प्राइस पर ही बेची जाएगी। विकिंग मीडिया आखिरी नीलामी की रिजर्व प्राइस 73 करोड़ से एक लाख रुपया ज्यादा देने पर राजी हो गया और माल्या का किंगफिशर विला 73.01 करोड़ में बिक गया।

Loading...