बच्चे ने CM से पूछा ‘18 महीने से मेरे पिता जेल में क्यों हैं’ योगी ने जांच शुरु की जांच

लखनऊ: लखनऊ में सीएम आदित्यनाथ योगी से वाराणसी से आए एक बच्चे ने इंसाफ के लिए गुहार लगाई थी। 11 साल के हर्ष ने कहा था मेरे पिता को 18 महीनों से पुलिस ने जेल में बंद कर रखा है। उन्हें झूठे मुकदमे में फंसाया गया है। जिसकी वजह से डेढ़ साल से वो जेल में बंद हैं। सीएम ने हर्ष की बात सुनी और उसपर कार्रवाई का आदेश दिया।

हर्ष जब लखनऊ से लौटकर वाराणसी आया तब एसएसपी से मुलाकात की। और अब हर्ष की फरियाद पर कार्रवाई शुरु हो चुकी है। हर्ष ने 28 मार्च को सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। जिसमें उसने अपने पिता को झूठे केस में फंसाकर जेल में बंद करने की बता कही थी।

ये भी पढें :

-मेरठ नगर निगम में बीजेपी सदस्यों ने कहा ‘भारत में रहना है तो वंदे मातरम कहना होगा’

-सीएम योगी ने 30 मिनट में 5 दिन से चली आ रही नाराजगी दूर कर दी

हर्ष के मां की मौत बचपन में ही हो चुकी थी। वो अपनी बुआ के साथ रहता है। हर्ष का आरोप है कि उसके पिता को झूठे मुकदमे में फंसाया गया है। जिसके वजह से डेढ़ साल से वो जेल में बंद हैं। हर्ष के पिता के साथ जेल में और चार लोग बंद हैं। उनमें से एक की पत्नी सुनीता को भी अब आस जगी है कि उसके साथ भी न्याय होगा।

हर्ष ने इससे पहले भी कई महीनों तक अपनी फरियाद सरकार तक पहुंचाने की कोशिश की थी। लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई थी। लेकिन सीएम योगी के सामने अपनी फरियाद रखने के बाद अब उसके मन में इंसाफ की आस जगी है।

Loading...

Leave a Reply