पीएम मोदी की दहाड़ से थर्राए अलगाववादी और पाकिस्तान, सताने लगा बर्बादी का डर

पीएम मोदी की दहाड़ से थर्राए अलगाववादी और पाकिस्तान, सताने लगा बर्बादी का डर

नई दिल्ली:  जम्मू-कश्मीर में सबसे लंबे टनल का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी ने उधमपुर में रैली को संबोधित किया। उधमपुर में पीएम ने बताया कि पत्थर की कितनी ताकत होती है। उन्होंने कहा कश्मीर के नौजवानों के सामने दो रास्ते हैं, एक टूरिज्म का और दूसरा टेररिज्म का। उन्होंने कहा कुछ भटके नौजवान पत्थर फेंक रहे हैं और दूसरी तरफ उसी जम्मू-कश्मीर के नौजवानों ने पत्थर काटकर टनल का निर्माण कर दिया।

पीएम ने उधमपुर से सीधे सीधे पाकिस्तान को भी कड़ा संदेश दिया। उन्होंने कहा अब कश्मीर में टूरिज्म का विकास होगा। जम्मू कश्मीर का विकास कर सीमा के उसपार रहनेवाले कश्मीर के लोगों को बताना चाहते हैं कि देखिये हमने किस तरह से कश्मीर का विकास किया है। और एक वो हैं जिन्होंने आप के ऊपर कब्जा कर रखा है और आप के ऊपर कब्जा करनेवालों ने आपकी क्या हालत कर दी है।

पीएम ने इस बात से पाकिस्तान की दुखती रग पर हाथ रख दिया है। क्योंकि पाकिस्तान के खिलाफ पीओके में लगातार विरोध प्रदर्शन होता रहा है। लोग पाकिस्तान सरकार से आजादी की मांग कर रहे हैं। आए दिन ये बात सामने आती है कि किस तरह से पाकिस्तान सरकार पाक अधिकृत कश्मीर के लोगों के ऊपर लाठियां और गोलियां बरसा रही है। पीओके में उठनेवाली विरोध की आवाज को पाकिस्तानी सेना अपने बूट से कुचलने की कोशिश करती रही है।

लेकिन पाकिस्तान के लाख दमन के बावजूद पीओके में आजादी की मांग उठती रही है। पाकिस्तान के गिलगित, बाल्टिस्तान के इलाकों से भी आजादी की मांग उठती रही है। वहां के लोगों ने अपनी लड़ाई में भारत से मदद की मांग भी की थी।

उधमपुर की रविवार की रैली से पीएम मोदी ने एक बार फिर से उस पाकिस्तान को चेता दिया है कि वो जम्मू कश्मीर में अपने आतंकियों को भेजना बंद करे। पीएम ने कहा जिस टनल का आज उद्घाटन किया किया गया वो रास्तों का नहीं दिलों का नेटवर्क बननेवाला है। पीएम ने कहा इस तरह के और 9 टनल बनाए जाएंगे।

पीएम ने अपने भाषण में जम्मू कश्मीर के विकास का एक रोडमैप भी पेश किया। उन्होंने कहा जम्मू कश्मीर के कुछ भटके हुए नौजवान पत्थर फेंक रहे हैं और उसी जम्मू कश्मीर के नौजवान पत्थर काटकर टनल बना रहे हैं और कश्मीर में सैलानियों को भेज रहे हैं। ये है पत्थर की ताकत। इस पत्थर की ताकत को समझे नौजवान। एक तरफ भटके नौजवान पत्थर फेंकने में लगे हैं दूसरी तरफ नौजवान पत्थर काटकर कश्मीर का भाग्य बदलने में लगे हैं।

Loading...

Leave a Reply