कुमारस्वामी ने किया शपथ ग्रहण ,अब वादे पूरे करने का समय

नई दिल्ली:कर्नाटक में जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन से की नई सरकार का गठन हो गया है आज कुमार स्वामी ने मुख्यमंत्री पद के लिए सपथ ग्रहण किया।और 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी विरोधी ताकतों को एक करने की कवायद शुरू कर दी है।

बुधवार को जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों समेत विपक्षी दलों के प्रमुख नेता भी शामिल हुए। कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण में बीएसपी प्रमुख मायावती, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, सीपीएम के नेता सीताराम येचुरी भी पुहंचे, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी भी मौजूद रहीं।

अखिलेश यादव और मायावती मंच पर पंहुच ने एक-दूसरे के नमस्कार करने के बाद जनता की तरफ हाथ हिलाकर अभिवादन किया।

कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में राष्ट्रीय लोक दल के नेता अजित सिंह और पूर्व जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने भी शिरकत किया।

जी परमेश्वर कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष है और राज्य में दलित समुदाय से ताल्लुक रखते है। कुमारस्वामी के बाद कांग्रेस नेता जी परमेश्वर को राज्यपाल ने डिप्टी सीएम की शपथ दिलाई।कर्नाटक के राज्यपाल वजूभाई वाला ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।शपथ ग्रहण समारोह की शुरुआत राष्ट्रगान के साथ हुई।राज्यपाल वजूभाई वाला सीएम और उनके कैबिनेट को शपथ दिलाने के लिए मंचपर पहुंचे।

बता दें कि कुमारस्वामी ने कहा था कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद पर शपथ ग्रहण के बाद उन सभी पुरानी योजनाओं पर अमल शुरू करेंगे जिनकी शुरुआत उनके पहली बार सीएम बनने पर हुई थी।इन योजनाओं में ‘ग्राम वास्तव्य’ योजना सबसे अहम थी। कर्नाटक की ग्रामीण जनता के बीच कुमारस्वामी जनता दर्शन व ग्राम वास्तव्य जैसे कार्यक्रमों के जरिए लोकप्रिय बने है।कुमारस्वामी इन्हें दुबारा शुरू करेंगे। हालांकि अब वह हर योजना या कार्यक्रम को कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत आगे बढ़ाएंगे।जिसमें कांग्रेस की सहमति भी ली जाएगी।

क्या था ग्राम वास्तव्य योजना..

ग्राम वास्तव्य योजना के तहत कुमारस्वामी गांवों में जाकर लोगों के बीच ठहरते थे।इससे गांवों में उनकी अच्छी पैठ बन गई थी।जेडीएस के चुनावी वादे कुमारस्वामी ने चुनाव से पहले किसानों की कर्ज माफी का वादा किया था।उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार बनते ही वे किसानों का सारा कर्ज बिना शर्त माफ कर देंगे।हालांकि चुनाव से पहले कांग्रेस की सरकार ने कोऑपरेटिव बैंक से लिये गए 50 हजार रुपये तक के कर्ज माफ कर दिए थे।अब जेडीएस कांग्रेस से मंत्रणा के बाद कर्ज माफी का ऐलान करेगी।

कुमारस्वामी ने कहा था कि सामाजिक कल्याण की योजनाओं के तहत 65 वर्ष से अधिक उम्र के प्रत्येक व्यक्ति को पेंशन, कृषि कार्यों से जुड़ीं महिलाओं को प्रति माह 2,000 रुपये की सहायता, वकीलों व उनके एसोसिएशन के लिए 100 करोड़ रुपये और सभी ट्रेनी वकीलों को 5000 रुपये प्रति माह स्टाइपेंड दिया जाएगा।इसके अलावा जेडीएस इंदिरा कैंटीन का मुकाबला करने के लिए ‘अप्पाजी’ नाम से कैंटीन चला रही है। इन सभी योजनाओं पर अमल कांग्रेस की सहमति के बाद शुरू होगा।

Loading...