JNU छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया की बिगड़ी तबीयत

JNU छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया की बिगड़ी तबीयत

  • यूनिवर्सिटी की तरफ से की गई कार्रवाई के खिलाफ भूख हड़ताल
  • कहीं ये ब्लैक मेलिंग तो नहीं ?

JNU छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की हालात बिगड़ने लगी है। जिसके बाद उन्हें जेएनयू मे ही बने हेल्थ सेंटर में भर्ति कराया गया। डॉक्टरों का कहना है कि अगर जल्द कन्हैया ने अपना भूख हड़ताल खत्म नहीं किया तो उनकी हालत और बिगड़ सकती है। कन्हैया का ब्लड प्रेशर 80/56 हो चुका है। डॉक्टरों ने पहले ही कन्हैया को भूख हड़ताल करने से मना किया था। लेकिन डॉक्टरों की ये सलाह काम नहीं कर सकी। कन्हैया समेत कई छात्र यूनिवर्सिटी की तरफ से की गई अनुशासनात्मक कार्रवाई और जुर्माने के खिलाफ अनशन पर हैं। छात्रों का कहना है कि उनपर जो जुर्माना लगाया गया है उसे वापस लिया जाए।

दरअसल 9 फरवरी को JNU कैंपस में देश विरोधी नारे लगाने के बाद यूनिवर्सिटी कैंपस मे सरगर्मी बढ़ गई थी। जिसके बाद एक कमेटी बनाई गई थी। दरअसल जेएनयू मे नारेबाजी संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु के समर्थन में लगाया गया था। कमेटी ने कन्हैया कुमार पर 10 हजार का जुर्माना लगाया था। जबकी उमर खालिद को एक सेमेस्टर के लिए बाहर कर दिया गया था। खालिद को 13 मई तक 20,000 जुर्माना जमा कराने को कहा गया है। अनिर्बान भट्टाचार्य को 15 जुलाई तक निकाला गया है। 25 जुलाई के बाद से अनिर्बान के अगले पांच साल तक कैंपस में घुसने पर प्रतिबंध है। ऐसा इसलिए क्योंकि 15 से 25 जुलाई तक वो अपना पीएचडी जमा करवा सकें।

कमेटी की तरफ से की गई इस कार्रवाई के खिलाफ ही छात्र भूख हड़ताल पर हैं। छात्रसंघ ने इस सजा को मानने से इनकार कर दिया है। साथ ही इसे वापस लेने की मांग भी की है। एबीवीपी और कन्हैया गुट ने मांग की है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन उनसे आकर बात करे और सजा वापस ले तभी भूख हड़ताल खत्म किया जाएगा। हड़ताल की वजह से पिछले दिनों JNU छात्र संघ के सचिव एबीवीपी के सौरभ शर्मा की हालत काफी बिगड़ गई थी।
इस मामले पर जब केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू से पूछा गया तो उनका कहना था कि जनता के पैसे से यूनिवर्सिटी का खर्च चलाया जाता है। वहां पर छात्र पढ़ाई करने आते हैं ना की अफजल गुरु का जन्मदिन मनाने। आज वहां के छात्र जो कुछ कर रहे हैं वो नक्सलियों के ईशारे पर किया जा रहा है। इस तरह से यूनिवर्सिटी का माहौल खराब करने की इजाजत किसी को नहीं दी जा सकती है।

Loading...

Leave a Reply