लवली मर्डर केस: एसपी को आए एक फोन कॉल ने बदली जांच की दिशा, नीतिश को आजीवन कारावास

मौजूदा वक्त में गोड्डा के एसपी राजीव रंजन सिंह उस वक्त सिमडेगा के एसपी थे। और एक फोन कॉल पर उन्होंने इस मर्डर केस की जांच नए सिरे से करवाई। जिसके बाद लवली मर्डर केस की जांच मर्डर के एंगल से शुरु हुई। आज नतीजा सभी के सामने है। नीतिश भारती दोषी करार दिया जा चुका है और उसे उम्रकैद की सजा और एक लाख रुपया जुर्माना लगाया गया है।

सिमडेगा/झारखण्ड:  सिमडेगा अंतर्गत  10 फ़रवरी 2017  को घटित लवली हत्याकांड की घटना को लेकर एडीजे कोर्ट द्वारा इस मामले में नीतिश भारती को आजीवन कारावास की सजा के साथ एक लाख का जुर्माना भी लगाया गया है ।इस बात की जानकारी लोक अभियोजक  महेंद्र सिंह ने दी।जिसके बाद लड़की के परिवार ने एसपी सिमडेगा का धन्यवाद कर रहा है।जिनके कारण न्याय मिल सका।

क्या था मामला…
सिमडेगा सदर अस्पताल में कार्यरत लवली कुमारी जिसका चयन सिमडेगा जिला से पुलिस बल पर भी हो चूका था। लेकिन एक खतरनाक षड्यंत्र के कारण उन्हें जान गवाना पड़ा।एक युवक नितीश भारती ने लवली के घर पर सुबह पहले गला दबा कर मार डाला और फिर पेट्रोल छिड़कर आग लगा कर भाग गया।जिस क्रम में खुद भी आग के चपेट में आ गया।

।उसके जले हुए कपड़े और घड़ी उधर ही लोगो ने पड़े होने की सुचना पुलिस को दी थी। तत्कालीन थाना प्रभारी राजेश कुमार इस घटना को शार्ट सर्किट कह कर खत्म करना चाहते थे। लेकिन मौहल्ले के कात्यानी प्रसाद द्वारा एसपी को फोन पर सुचना दिया गया कि इसकी जांच शख्ती से करें ये मामला हत्या का है।

इस पर राजीव रंजन सिंह ने मामले को काफी गंभीरता से लेते हुए खुद पहुँच गए घटना स्थल और जांच में तथ्यों को सही पाया। चाहरदीवारी के पार से पेट्रोल का डब्बा भी उन्होंने जब्त किया। इस बीच एडीपीओ अमित कुमार सिंह को सुचना प्राप्त हुई कि युवक बीरु में इलाजरत है। इसके आलोक में उस युवक का ब्यान मजिस्ट्रेट के माध्यम से कराया गया।

मामले को गुमराह करते हुए युवक ने कहा कि  लड़की के घर वाले उसे और लवली को जला कर मारने का प्रयास किया , पर एसपी राजीव रंजन सिंह को इस बात पर तनिक भी विश्वाश नही हुआ और जांच का दायरा बढ़ा दिया।

इस मामले के लिए सारा जिम्मा इंस्पेक्टर सिमडेगा को दे दिया। जांच के बाद सारा राज खुला और युवक की चालाकी का भी पता चला। युवक रांची में अपना सारा फोन एक युवती के पास छोड़ कर आया था ताकि इधर हत्या कर जब राँची पहूंच जाए तो फिर पुलिस किसी भी तरह उसे पकड़ न पाये। चूँकि सारा नम्बर का लोकेशन राँची मिलता।

लेकिन उसने भी पर गुनाह का कुछ निशान पीछे  छोड़ दिया। उसके रखे फोन से एक कॉल रांची से उस लड़की ने लवली के फोन पर कर दिया था। । जब इस मोबाइल की कहानी पुलिस ने युवक को बताई तो वो टूट गया।और सब कुछ सच सच बता दिया की कैसे लवली की हत्या की ।

(Visited 77 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *