यौन उत्पीड़न में रांची हाईकोर्ट से विधायक प्रदीप यादव की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

रांची/झारखंड:  यौन शोषण मामले में पोड़ैयाहाट से जेवीएम विधायक प्रदीप यादव को रांची हाईकोर्ट से बड़ा झटका लगा है। हाईकोर्ट ने प्रदीप यादव की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद प्रदीप यादव की मुश्किल और बढ़ गई है। उनपर गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है। इससे पहले देवघर कोर्ट ने उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट भी जारी कर दिया है। जिसके बाद से विधायक की गिरफ्तारी के लिए देवघर पुलिस लगातार कोशिश कर रही है।
प्रदीप यादव पर जेवीएम की ही महिला राष्ट्रीय प्रवक्ता ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। आरोप की जांच देवघर पुलिस की तरफ भी की गई जिसमें आरोपों को सही पाया गया। इस मामले के सामने आने के बाद काफी दिनों तक जेवीएम अध्यक्ष बाबू लाल मरांडी ने भी चुप्पी साध रखी थी। लेकिन लोकसभा चुनाव खत्म होने के बाद उन्होंने इस मामले में प्रदीप यादव से पार्टी का महासचिव पद छोड़ने के लिए चिट्ठी लिखी थी। जिसके बाद प्रदीप यादव ने महासचिव के पद से इस्तीफा दिया था।
लोकसभा चुनाव के दौरान जब यौन उत्पीड़न का ये मामला सामने आया था तब चुनाव में भी इसका काफी चर्चा हुआ था। विपक्ष की  तरफ से इसे एक राजनीतिक साजिश बताया गया था। इस मामले में प्रदीप यादव ने भी देवघर पुलिस काे सामने अपना पक्ष रखा था।
अब हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत की याचिका खारिज होने के बाद प्रदीप यादव के सामने खुद को गिरफ्तारी से बचाने के लिए काफी कम विकल्प रह गए हैं। उनके सामने आत्मसमर्पण का ही एक मात्र रास्ता बचा है या फिर एक आखिरी कोशिश के तौर पर वो सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकते हैं।
(Visited 92 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *