गोड्डा: पर्मानेंट वारंटी करें सरेंडर नहीं तो 174A में होगी 7 साल की जेल- एसपी, Video

गोड्डा:  एस राजीव रंजन सिंह ने पर्मानेंट वारंटियों के खिलाफ सख्त कदम उठाया है। एसपी की तरफ से जानकारी दी गई कि जिले के पर्मानेंट फरार वारंटी खुद सरेंडर करें। अगर वो ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ आईपीसी की धारा 174A के तहत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा इस धारा के तहत कार्रवाई का मतलब है 7 साल की सजा होना तय।

एसपी राजीव रंजन सिंह ने कहा कि इसमें कोर्ट के फरारी के साथ-साथ थाने में अलग अलग कांडों के फरारी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के कुल 1048 फरार वारंटी जिले में है। सभी थाना प्रभारी को निर्देश दिया गया है कि उनके थानाक्षेत्र में जितने भी फरार वारंटी हैं उनके घरों पर छापेमारी करें।

एसपी ने कहा कि 15 दिनों तक चलनेवाले इस विशेष अभियान में वैसे फरारी जिनकी मृत्यु हो चुकी है, या जो फरारी कोर्ट में सरेंडर कर देंगे उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। लेकिन इनके अलावे जो इन 15 दिनों के समय सीमा के बाद भी फरार रहेंगे उनके खिलाफ कोर्ट में प्रतिवेदन दिया जाएगा। जिसमें ये कहा जाएगा कि कोर्ट के आदेश के बाद भी इन फरारियों ने कोर्ट में आत्मसमर्पण नहीं किया है। उनपर धारा 174A के तहत उन्हें 7 साल की सजा मिलेगी। मौजूदा समय में सबसे ज्यादा फरार वारंटी नगर थाना क्षेत्र में हैं जिनकी संख्या 231 है।

क्या है धारा 174A?

धारा 174A के नाम से फरारियों के पसीने इसलिए छूटेंगे क्योंकि इसमें पहले किये गए जुर्म के अलावे इस एक्ट के तहत उन्हें 7 साल की सजा अलग से मिलेगी। खासबात ये है कि अगर फरार वारंटियों के द्वारा किये गए जुर्म में वो दोषमुक्त भी साबित होते हैं फिर भी फरारी के लिए उन्हें 7 साल की सजा होना तय है।

(Visited 33 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *