गोड्डा: शांति समिति की बैठक, मुहर्रम में नहीं बजेगा डीजे, हुड़दंगियों पर रहेगी पैनी नजर

गोड्डा/झारखंड: मुहर्रम को लेकर बुधवार को उपायुक्त किरण कुमारी पासी के नेतृत्व में शांति समिति की बैठक हुई। जिसमें जिले के 9 प्रखंडों के अलग अलग समुदाय के लोग शामिल हुए। इस अहम बैठक में प्रशासन को कई निर्देश दिये गए। जिसमें ये साफतौर पर कहा गया कि मुहर्रम के दौरान निकलने वाला जुलूस पहले से तय किये गए रूट पर ही चलेंगे। साथ ही उपायुक्त द्वारा कहा गया कि जुलूस के दौरान हुड़दंगियों या माहौल बिगाड़ने वालों को चिन्हित कर कार्रवाई की जाए।

उन्होंने कहा कि मुहर्रम के दौरान अलग अलग जगह पर जुलूस चलने का सिलसिला जारी रहता है। इसके लिए संबंधित विभाग की तरफ से रूट चार्ट का निर्धारण किया गया है। जुलूस में शामिल लोगों और दर्शकों के बीच तनाव के हालात पैदा न हों इसके लिए भीड़ को नियंत्रित करने एवं गुप्त सूचना एकत्र करने एवं संवेदनशील स्थानों पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की तरफ से सख्त निगरानी के निर्देश दिये गए।

कई बार ऐसा भी होता है कि किसी धार्मिक स्थल के सामने जुलूस को देर तक रोककर नारेबाजी और डीजे का इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे मौकों पर कई उदंड किस्म के लोगों में धार्मिक स्थल में घुसने की प्रवृत्ति भी देखी जाती है। ऐसे मौकों पर खासतौर से सतर्क रहने के निर्देश दिये गए।

शांति समिति की बैठक में शामिल लोग

प्रशासन की तरफ से जिले के सभी थाना प्रभारी को निर्देश दिया गया कि अपने सूचना और खुफिया तंत्र को मजबूत बनाकर रखें। ताकि किसी अनहोनी की सूचना हालात बिगड़ने से पहले मिल सके और कार्रवाई की जा सके। शांति समिति की बैठक में उपायुक्त किरण कुमारी पासी की तरफ से कहा गया कि किसी भी हालत में मुहर्रम पर निकलने वाले जुलूस को पहले से तय किये गए निर्धारित रूट पर ही चलना होगा। इसकी अनदेखी करनेवालों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस तरह की जानकारी मिलने पर कानून व्यवस्था संभाल रहे अधिकारी तुरंत इसकी जानकारी देंगे।

मुहर्रम के दौरान डीजे के प्रयोग पर रोक लगा दी गई है। और इसकी अनदेखी करनेवालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

शांति समिति की बैठक में पुलिस अधीक्षक राजीव रंजन सिंह, अपर समाहर्ता अनिल कुमार तिर्की, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रविकांत भूषण समेत कई पदाधिकारी मौजूद थे।

Loading...