डायलिसिस के लिए अब नहीं जाना होगा बाहर, सदर अस्पताल गोड्डा शुरु हुई सुविधा

गोड्डा/झारखंड:  गुरुवार को उपायुक्त गोड्डा भोर सिंह यादव के द्वारा किडनी मरीजों के लिए जिला मुख्यालय स्थित सदर अस्पताल गोड्डा में दो यूनिट डायलिसिस बेड का विधिवत उद्घाटन किया गया। इस मौके पर उपायुक्त ने कहा कि इस सुविधा के शुरू होने से लोगों को काफी सुविधा मिल सकेगी। गोड्डा जिले के लिए यह बड़ी उपलब्धि है कि यहां किडनी मरीजों को अब कभी बाहर डायलिसिस के लिए नहीं जाना पड़ेगा।
उन्होंने कहा इससे लोगों को डायलिसिस की सुविधा समय पर मिल पाएगी। गरीब व बीपीएल परिवार के मरीजों को निशुल्क डायलिसिस की सुविधा मिलेगी वहीं एपीएल परिवार के मरीज को प्रति डायलिसिस सरकार की ओर से निर्धारित शुल्क 1206 रुपये भुगतान करने होंगे। यहां बीपीएल, आयुष्मान कार्ड, सहित सामाजिक रूप से गरीब परिवार जिनकी वार्षिक आय 7200 रुपये से कम है, को निशुल्क सेवा दी जाएगी।
उपायुक्त गोड्डा भोर सिंह यादव ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करना हमारी प्राथमिकता है। डायलिसिस कराने के लिए जिले वासियों को अब प्राइवेट अस्पताल के चक्कर नहीं काटने होंगे। वर्तमान में पहले मरीज का डायलिसिस हुआ है। वहीं सिविल सर्जन गोड्डा शिव प्रसाद मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति हमारे सभी स्वास्थ्य कर्मी वचनबद्ध है। उनके द्वारा जानकारी दी गई कि कोलकाता की कंपनी ईस्केग संजीवनी प्राइवेट लिमिटेड यहां पीपीपी मोड पर डायलिसिस यूनिट संचालित कर रही है। सिविल सर्जन डॉ एसपी मिश्रा ने बताया कि सदर अस्पताल के दो मंजिले भवन में बनी डायलिसिस यूनिट का उद्घाटन के साथ ही वहां मरीजों का इलाज शुरू कर दिया गया है।
मौके पर डीआरसीएचओ डॉ. मंटू टेकरीवाल, सदर अस्पताल उपाधीक्षक प्रदीप कुमार सिन्हा, डॉ. ताराशंकर झा सहित अन्य गणमान्य मौजूद थे।
(Visited 40 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *