गोड्डा: ये नाटक नहीं चेतावनी है, इसके बाद भी अगर सड़क पर ‘जल्दी करेंगे तो देर हो जाएगी’ Video

गोड्डा/झारखंड:  सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत प्रशासन की तरफ से लोगों को ट्रैफिक के नियम और बाईक और कार चलाने में बरती जाने वाली सावधानी की जानकारी देने के लिए नुक्कड़ नाटक का सहारा लिया गया है। शहर में जगह जगह पर नाटक मंडली के सदस्य अभिनय के जरिये लोगों को गाड़ी चलाते वक्त बरती जानेवाली सावधानी के बारे में जानकारी दे रहे हैं। 23 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है।

इनके अभिनय पर लोग तालियां भी बजाते हैं, चेहरे पर मुस्कान भी आती है। उम्मीद ये की जा रही है कि इनके अभिनय को लोग केवल 30 मिनट या 40 मिनट का ड्रामा ना समझ कर उसे सफल और सुरक्षित जिंदगी के लिए आदर्श वाक्य मान रहे होंगे।

आमतौर पर देखा जाता है कि लोग बाईक या कार चलाते वक्त काफी बेपरवाह हो जाते हैं। इसमें सबसे पहले नंबर पर आता है बाईक चलाते वक्त हेलनेट ना लगाना। जिसकी वजह से मामूली हादसे में भी गंभीर चोट आती है खासकर सिर पर। और पूरे परिवार को जिंदगी पर पछताना पड़ता है। क्योंकि जिसने गलती को वो तो गुजर गया लेकिन जो रह गया उसके सामने केवल पछतावे के कुछ नहीं बचता।

सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत लोगों को सुरक्षित यात्रा के लिए किये जानेवाले जरुर उपायों के बारे में तो जानकारी दी ही जाती है साथ ही उन्हें जो ट्रैफिक के नियमों से अनजान हैं उन्हें ट्रैफिक के नियम के बारे में भी जानकारी दी जाती है।

गोड्डा समाहरणालय के सामने जिला प्रशासन और परिवहन विभाग की तरफ से नुक्कड़ नाटक करवाया गया। जिसमें अडाणी फाउंडेशन भी इस नेक काम में भागीदार है। इस नुक्कड़ नाटक में भाग ले रहे कलाकारों में आशुतोष आनंद, आदित्य कुमार, कुंदन शर्मा, गोविंद राज, निखिल कुमार, शिवम कुमार, आकाश राज और दीपक कुमार शामिल थे।

ये नुक्कड़ नाटक रोड सेफ्टी और अडाणी ग्रुप की अध्यक्षता में किया गया। जिसमें रोड सेफ्टी के दीपक कुमार (आईटी मैनेजर), विकाश कुमार (टेक्निकल असिस्टेंट), विवेक कुमार (आईटी असिस्टेंट) और क्रांति कुमार (आईटी असिस्टेंट) के साथ साथ अडाणी ग्रुप से मनोज झा उपस्थित थे।

 

Loading...