गोड्डा: मय्यत से लौट रहा मंजर अली घर नहीं पहुंचा और मातम में डूब गया पूरा परिवार

गोड्डा/झारखंड:  रिश्तेदार की मैयत से घर वापसी कर रहे थे तालझारी के मंजर अली अंसारी। अपने बेटों के साथ बाईक पर सवार होकर घर की तरफ रवाना हुए थे। सभी इंतजार में बैठे थे अब्बु घर आएंगे तो रिश्तेदार का हाल चाल पूछेंगे। सफर कैसा रहा ये पूछेंगे, पूछेंगे कि आनेजाने में कोई परेशानी तो नहीं हुई। लेकिन परिवार मंजर अली से ये सबकुछ पूछ पाता उससे पहले किस्मत ने मंजर अली का पता बदल दिया। हादसे के बाद ऑटो चालक मौके से फरार हो गया। जिसके बाद आसपास मौजूद लोगों ने मंजर अली के दोनों बेटों को अस्पताल पहुंचाया।

पोड़ैयाहाट के बेलतुप्पा मोड़ के पास मंजर अली की बाईक की सामने से आ रही ऑटो से टक्कर हो गई। दुनिया की नजर में ये टक्कर दो वाहनों की टक्कर हो सकती है। लेकिन दो वाहनों की इस भिड़ंत के बाद मंजर अली अपने घर से, अपने परिवार से इतना दूर चले गए जिसका फासला अब कफी नहीं मिट सकेगा।

घरवालों का इंतजार अब आंसुओं के सैलाब में बदल चुका है। जिस घर की चौखट को मंजर अली के कदमों की आहट का इंतजार था अब वहां जनाजे की तैयारी है। क्योंकि ऑटे से हुए टक्कर में मंजर अली की मौत हो गई। और उनके साथ इस सफर में हमसफर बने उसके दोनों बेटे अस्पताल में किस्मत से जिंदगी की सांसें उधार मांग रहे हैं।

हादसे के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। मंजर अली का शव सामने पड़ा था। पंचनामा तैयार हुआ। शरीर की लंबाई चौड़ाई पुलिस फाइल में दर्ज की गई और शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया। बेलतुप्पा मोड़ पर हुई इस हादसे ने एक परिवार की जिंदगी बदल दी। बदल कर रख दी गई उस घर की हर वो निशानी जिसमें कभी मंजर अली की यादें बसा करती थी। क्योंकि अब मंजर अली केवल तस्वीरों के फ्रेम में कैद होकर रह गए हैं।

(Visited 3 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *