गोड्डा: बिजली विभाग के कंट्रोल रूम से Live जानिये क्यों आपकी बत्ती गुल हो जाती है,Video

गोड्डा/झारखंड:  आमरण अनशन के खत्म होने के बाद दोबारा से बिजली की आपूर्ति पटरी से उतरी जा रही है। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि आमरण अनशन के दौरान बिजली में जिस तरह का सुधार देखने को मिला था वो सुधार अनशन खत्म होने के बाद कायम नहीं रहा। इसलिए ये कहा जा सकता है कि बच्चू झा की तरफ से किये गए अमरण अनशन के वक्त विभाग ने जो तत्परता दिखाई थी और अनशन के खत्म होने के बाद जो ढीलापन दिखा रही है उसके पीछे एक लापरवाह सोच है।

शहर में बिजली की बिगड़ती हालत का जायजा लेने खुद समाजसेवी बच्चू झा गोड्डा में बिजली विभाग के कंट्रोल रूम में पहुंच गए। वहां मौजूद कर्मचारियों ने जब अपनी व्यथा और विभाग की लापरवाही के बारे में जानकारी दी तो काफी हद तक ये साफ हो गया कि शहर में हो रही बिजली कटौती के पीछे तकनीकि खराबी से ज्यादा विभाग की कमजोर इच्छाशक्ति जिम्मेदार है।

कंट्रोल रूम में मौजूद बिजली विभाग के कर्मचारियों ने बताया कि उनके हाथ में कुछ भी नहीं है। शहर में किसी भी ट्रांसफॉर्मर में स्विच नहीं है। जिसकी वजह से मामूली फॉल्ट होने पर भी पूरे शहर की बिजली काटी जाती है।

जहां तक बात बिजली के तारों के रखरखाव की होती है तो वहां भी विभाग पूरी तरह से फेल रहा है। एक पोल से दूसरे पोल के बीच तारों को हाथ के सहारे टाईट किया जाता है। संवेदक के पास तारों को सही तरीके से टाईट करने के लिए मशीन तक नहीं है। विभाग के कर्मचारी मानते हैं कि वो बैसाखी के सहारे चल रहे हैं।

Loading...