गोड्डा: उबल पड़ा पोड़ैयाहाट जब थाना के निजी ड्राइवर की हुई संदिग्ध मौत

गोड्डा/झारखंड:  मंगलवार की सुबह पोड़ैयाहाट में थाना के निजी ड्राइवर राजीव कुमार के परिजनों के लिए अमंगल और मनहूस साबित हुआ। सुबह सवेरे परिवार को इस बात की जानकारी दी गई कि उनके बेटे की सड़क हादसे में मौत हो गई। लेकिन परिजनों को पुलिस के इस बयान पर यकीन नहीं आया। क्योंकि परिजनों का आरोप है कि उसकी मौत हादसे में नहीं हुई बल्कि उसकी हत्या की गई है।

परिजनों का कहना है कि सोमवार की रात तकरीबन 11 बजे राजीव को थानेदार ने फोन कर गश्ती पर जाने के लिए बुलाया था। जिस गाड़ी को राजीव चला रहा था उसमें और चार पुलिसकर्मी थे। लेकिन किसी को इस बारे में जानकारी नहीं कि राजीव की मौत कैसे हुई। परिजनों ने राजीव के साथ गश्ती पर चार पुलिसकर्मियों पर उसकी हत्या का आरोप लगाया है।

इस मामले पर एसडीपीओ रविकांत भूषण ने बताया कि निजी ड्राइवर राजीव कुमार को अकसर बुलाया जाता था। और गश्ती के क्रम में एक्सीडेंट में उसकी मौत हो गई। उन्होंने कहा कि स्थानीय नेता की तरफ से इसपर राजनीति कर सड़क जाम करने की कोशिश की गई।

एसडीपीओ ने परिजनों के आरोप को खारिज करते हुए कहा कि चुकी वो सदमे में हैं इसलिए इस तरह के आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिस टीम के साथ राजीव था वो परमानेंट वारंटियों के वेरिफिकेशन का काम कर रही थी। जिस वक्त वो वेरिफिकेशन कर लौट रहे थे उसी वक्त ये हादसा हुआ। हलांकि एसडीपीओ ने कहा कि ये लोग गाड़ी में सो गए होंगे इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है।

राजीव की संदिग्ध मौत से गुस्साए परिजन और ग्रामीणों ने उसके शव के साथ रोड जाम किया। जिन्हें हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करनी पड़ी। रोड जाम कर रहे ग्रामीण और पुलिस के बीच नोंकझोंक भी हुई।

(Visited 80 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *