गोड्डा: पथरगामा में बर्ड फ्लू की आशंका, जांच के लिए भेजा गया सैंपल, Video

गोड्डा/झारखंड:  मेहरमा के बाद अब पथरगामा में भी बर्ड फ्लू फैलने की आशंका जताई जा रही है। पथरगामा के चिलरा पंचायत के अंतर्गत आनेवाले चैनपुर में पिछले एक हफ्ते में कई कबूतर के मरे पाए गए हैं। जिसके बाद ये आशंका जताई जा रही है। दरअसल मरे हुए कबूतर को ग्रमीणों ने खुले में ही फेंक दिया था। जिसे एक कुत्ते ने खा लिया। ग्रामीणों के मुताबिक कबूतर खाने की वजह से कुत्ते की मौत हो गई।

रविवार को जिला भू-अर्जन पदाधिकारी एमएम जायसवाल तालाब का निरीक्षण करने उक्त पंचायत में पहुंचे थे। जहां पर ग्रामीणों ने उन्हें कुत्ते के मरने की बात बताई। जिसके बाद भू-अर्जन पदाधिकारी ने मरे हुए कुत्ते को जमीन में गड़वा दिया।

बर्ड फ्लू की आशंका पर जब उनसे बात की गई तो उन्होंने कहा कि प्रशासन इस मामले में काफी गंभीर है। इससे पहले मेहरमा में भी बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है और वहां पर अभी भी अलर्ट जारी है। चिलरा पंचायत के बारे में उन्होंने बताया कि यहां पर जानकारी की कमीं के अभाव में ग्रामीणों ने मरे हुए कबूतर को खुले में ही फेंक दिया था। जिसके बाद उसे कुत्ते ने खा लिया और ग्रामीणों ने बताया कि कुत्ते की मौत भी कबूतर खाने से हो गई। उन्होंने कहा कि हमने सभी ग्रामीणों से अपील की है कि अगर कहीं कोई पक्षी मरा हुआ पाया जाए तो उसे खुले में ना फेंके बल्कि जमीन में गाड़ दें।

इसे भी पढ़ें

गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का निधन, कल राष्ट्रीय शोक का एलान

ग्रामीणों का कहना है कि रोजाना लोगों के घरों में कबूतर मरने की बात सामने आ रही है। समाजसेवी नंदलाल भगत ने कहा कि मेडिकल टीम सैंपल इकट्ठा कर ले गई है। बताया गया है कि 20 दिनों में इसकी रिपोर्ट आ जाएगी।

NEWSTRENDINDIA भी लोगों से अपील करता है कि अगर कहीं भी कोई पक्षी मरा हुआ पाया जाए तो उसकी जानकारी मेडिकल टीम को अवश्य दें। और मरे हुए पक्षी को खुले में ना फेंके। चुंकी पक्षियों के मरने के काफी मामले सामने आए हैं इसलिए ऐसे में चिकन और अंडे का सेवन करने से भी लोग बचें। क्योंकि सावधानी सबसे बड़ा बचाव है।

(Visited 57 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *