गोड्डा: महागामा अस्पताल में लापरवाही के खिलाफ पुतला दहन, पुलिस पर भी सवाल

गोड्डा/झारखंड:  महागामा बसुआ चौक पर रेफरल अस्पताल महागामा के चिकित्सा पदाधिकारी और महागामा थाना प्रभारी का पुतला दहन किया गया। आरोप है कि रेफरल अस्पताल, महागामा के चिकित्सा पदाधिकारी एवं अन्य कर्मचारियों की लापरवाही से नवल किशोर दास की पत्नि के गर्भ में ही बच्चे की मौत हो गई। परिजनों की तरफ से आरोप ये भी लगाया जा रहा है कि मृत पैदा हुआ बच्चा लड़का था लेकिन अस्पताल प्रशासन ने जन्म प्रमाण पत्र में मृत लड़की होने का सत्यापन कर दिया। यहां सवाल ये भी है कि अगर बच्चा जन्म से पहले ही मर चुका था तो फिर उसका जन्म प्रमाण पत्र तैयार किस तरह से तैयार किया गया।
मरीज के परिजन पुलिस पर भी लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है कि उक्त घटना की शिकायत महागामा थाना में की गई लेकिन पुलिस के द्वारा प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई और पिछले तीन दिन से बरगला कर परिवार वालों को रखा गया। इस ममले में जिला कांग्रेस की तरफ से कहा गया है कि जब तक परिवार वाले को उचित जांच कर दोषियों पर कार्यवाही नही हो जाता तब तक कांग्रेस पार्टी का कतारबद्ध तरीके से विरोध एवं उचित जांच कर कार्यवाही की मांग करती रहेगी।
इसी मामले को लेकर महागामा रेफरल अस्पताल के चिकित्सा पदाधिकारी और महागामा थाना प्रभारी का पुतला का पुतला दहन किया गया।  इसके सिविल सर्जन गोड्डा और उपायुक्त गोड्डा को एक ज्ञापन देकर जांच की मांग करेंगे और दोषियों पर कार्यवाही की मांग करेंगे।  इस विरोध प्रदर्शन में नवल किशोर दास, रोहित दास,इकराम अंसारी, मो सरफराज, अभिनव कुमार सिंह, मुन्ना राजा, रॉकी जयसवाल, ज़िला परिषद सदस्य सुरेंद्र मोहन केसरी, अजय मिर्धा,आजाद अंसारी,काली देवी, खुशबू देवी, नैना देवी, सुलोचना देवी, खुशबू देवी, मोहम्मद फारूक अंसारी, मुहर्रम अंसारी, गुलाम अंसारी, वसीम अंसारी, रवि कुमार, शिव कुमार,चंदन कुमार, पंकज कुमार, मनोज कुमार, शंकर रविदास, दिलीप रविदास एवं दर्जनों महिला एवं उनके परिवार वाले इस पुतला दहन में मौजूद थे।
Loading...