गोड्डा: ज्ञानोदय के लिए अडाणी फाउंडेशन, जिला प्रशासन और इकोवेजन के बीच MoU

गोड्डा/झारखंड:  जिले के सरकारी विद्यालयों में छात्रों को बेहतर शिक्षा देने के लिए शुरू की गई ई लर्निंग व्यवस्था ज्ञानोदय गोड्डा के लिए गुरुवार को जिला प्रशासन, अडाणी फाउंडेशन व इकोवेजन के बीच एक एमओयू पर दस्तखत किए गए। इसके तहत जिले के 157 उच्च विद्यालयों, उत्क्रमित उच्च विद्यालयों व प्लस टू विद्यालयों में स्मार्ट क्लासेज के जरिए पढ़ाई की व्यवस्था की जाएगी। समझौता ज्ञापन में तीनों पक्षों के द्वारा दस्तखत किए गए।

उपायुक्त किरण कुमारी पासी व अपर समाहर्ता अनिल तिर्की की मौजूदगी में इस समझौते पर जिला शिक्षा पदाधिकारी सच्चिदानंद द्विवेंदु तिग्गा, जिला शिक्षा अधीक्षक जितेंद्र सिन्हा, अडाणी पावर झारखंड लिमिटेड के महाप्रबंधक दिनेश कुमार व अडाणी फाउंडेशन के सुबोध कुमार सिंह व इकोवेजन के रितेश सिंह ने दस्तखत किए।

इसके तहत नवीं व दसवीं में सभी विषयों की पढ़ाई की व्यवस्था होगी तथा ग्यारहवीं-बारहवीं में विज्ञान, कला व वाणिज्य संकायों में स्मार्ट क्लास के जरिए पढ़ाई संभव हो पाएगी। यह करार पांच वर्षों के लिए किया गया है। प्रथम वर्ष में अडाणी फाउंडेशन सीएसआर के तहत इस प्रोजेक्ट के लिए लगभग साढ़े तीन करोड़ रुपए खर्च करेगी। बाद के सालों में अडाणी फाउंडेशन को प्रत्येक वर्ष करीब 1 करोड़ रुपए सालाना का खर्च करना होगा।

इकोवेजन संस्था इस पूरी परियोजना के लिए तकनीकी सहायता मुहैया करा रही है। गौरतलब है कि गोड्डा जिला के पचास स्कूलों में फिलहाल ज्ञानोदय गोड्डा एप व स्कूलों में स्मार्ट क्लास के माध्यम से छात्र-छात्राओं को पढ़ाया जा रहा है। आने वाले महीने में यह सुविधा सभी 157 विद्यालयों तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। ज्ञात हो कि बोर्ड परीक्षा परिणामों में पूरे राज्य में गोड्डा की स्थिति काफी निराशाजनक रही है। ऐसे में स्मार्ट क्लासेज के माध्यम से बच्चे बेहतर परिणाम हासिल कर पाएंगे। उस प्रोजेक्ट का सारा काम उपायुक्त किरण कुमारी पासी की निगरानी में चल रहा है।

उन्होंने इस मौके पर कहा कि अडाणी फाउंडेशन ने ज्ञानोदय की शुरुआत व उसे सफल बनाने के लिए बहुत बड़ा सहयोग किया है और आने वाले वर्षों में ज्ञानोदय मील का पत्थर साबित होगा।  इस स्मार्ट क्लास की वजह से बच्चों को काफी लाभ मिल रहा है और विद्यालयों में उनकी उपस्थिति पचास प्रतिशत तक बढ़ी है। इस मौके पर  इकोवेजन की पूरी टीम व जिला शिक्षा विभाग के परियोजना अधिकारी शंभू दत्त मिश्रा समेत सभी पदाधिकारी भी मौजूद थे। इसके तहत जेईई और नीट जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में भी मदद की जाएगी।

Loading...