गोड्डा में मुफ्त में IIT ज्वाइंट की कोचिंग, बोर्ड के लिए 200 छात्र गोद लेगा प्रशासन-उपायुक्त, Video

गोड्डा/झारखंड:  जिले के कई मेधावी विद्यार्थियों के लिए एक बड़ी समस्या तब सामने आ जाती है जब वो संसाधन के अभाव में अपनी पढ़ाई आगे नहीं बढ़ा सकते हैं। वैसे छात्रों के लिए जिला प्रशासन की तरफ से एक नई शुरुआत की जा रही है। जिसके तहत मेधावी छात्रों को IIT ज्वाइंट की कोचिंग मुफ्त में दी जाएगी। इसके लिए जिले में दो केंद्रों को चिन्हित किया गया है।

उपायुक्त किरण कुमारी पासी ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि अब आर्थिक तंगी मेधावी छात्रों के आगे बढ़ने में रुकावट नहीं होगी। उन्होंने कहा कि जिले में IIT ज्वाइंट की कोचिंग छात्रों को मुफ्त में सरकार की तरफ से दी जाएगी। इसके लिए पांच जगहों का चयन भी किया जा चुका है। जिसका एक केंद्र प्लस टू हाईस्कूल गोड्डा में है। उन्होंने कहा प्लस टू हाईस्कूल गोड्डा में इस तरह का केंद्र पिछले डेढ़ महीने से चल रहा है।

कैसे होगा चयन?

IIT ज्वाइंट की फ्री कोचिंग के लिए सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूल के बच्चे आवेदन कर सकते हैं। इसमें भर्ती करने के लिए पहले छात्रों की स्क्रिनिंग की जाएगी। उसमें चयनित होनेवाले बच्चों को मुफ्त में IIT ज्वाइंट की कोचिंग दी जाएगी। यानि पैसों की कमी या किसी और वजह से जो छात्र कोचिंग के लिए बाहर नहीं जा सकते थे वो अब अपने शहर में रहकर ही बिल्कुल मुफ्त IIT ज्वाइंट की कोचिंग ले सकेंगे।

10वीं बोर्ड के लिए 200 छात्रों को गोद लेगा प्रशासन

इसके साथ ही उपायुक्त किरण कुमारी पासी ने कहा की 10 बोर्ड के लिए जिले के 200 छात्रों (100 लड़के, 100 लड़कियां) को प्रशासन गोद लेगा और उन्हों नि:शुक्ल बोर्ड परीक्षा की तैयारी करवाई जाएगी। जो छात्र प्री टेस्ट में बेहतर प्रदर्शन करेंगे उन छात्रों को प्रशासन की तरफ से गोद लिया जाएगा। उन्हें बिल्कुल मुफ्त आवासीय सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी।

जिससे की आर्थिक तंगी किसी छात्र के लिए बाधक ना बने। इसके लिए जिले में दो जगहों का चयन किया गया है। जिनमें से एक पथरगामा कस्तूरबा विद्यालय है। जहां लड़कियों के लिए मुफ्त पढ़ाई और हॉस्टल की सुविधा होगी। जबकि लड़कों के लिए प्लस टू हाईस्कूल गोड्डा में जगह तय किया गया है।

जिले के 101 स्कूलों में स्मार्ट क्लास (ज्ञानोदय गोड्डा)

उपायुक्त किरण कुमारी पासी ने कहा कि जिले में पढ़ाई के स्तर को सुधारने के लिए स्मार्ट क्लास को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अबतक जिले के 101 स्कूलों में स्मार्ट क्लास की शुरुआत की जा चुकी है। सबसे बड़ी बात ये है कि इसे कंपनी की तरफ से मिलने वाले सीएसआर फंड के जरिये किया गया है। इसमें सरकार से किसी तरह की फंड की मांग नहीं की गई है। इसमें अडाणी फाउंडेशन की तरफ से काफी सहयोग दिया गया है।

उपायुक्त ने बताया कि बिहार के बांका जिले में चल रहे स्मार्ट क्लास स्थलीय भ्रमण एवं अवलोकन करने के बाद उसे गोड्डा में भी शुरु किया गया। लेकिन शुरुआत में जिसे केवल प्रयोग के तौर पर शुरु किया गया था वो सफल होता दिख रहा है। इसलिए इसका विस्तार जिले के 101 स्कूलों में किया जा चुका है। जिससे छात्रों में भी पढ़ाई के प्रति रूची जागृत हुई है साथ ही शिक्षकों की कमीं की समस्या भी दूर हो रही है। आज झारखंड के दूसरे जिले के अधिकारी भी गोड्डा में चल रहे स्मार्ट क्लास की कार्यशैली का अवलोकन करने आ रहे हैं।

(Visited 96 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *