गोड्डा: आमरण अनशन पर किसान, 33 घंटे बाद विधायक ने दिया आश्वासन का लॉलीपॉप, Video

गोड्डा/झारखंड:  खेतों में चौबीस घंटे पैरों पर खड़े रहनेवाले किसान आज जमीन पर निढाल पड़े हैं। जिस जमीन की हरियाली देखकर इन किसानों में ऊर्जा का संचार होता था वो जमीन बंजर हो रही है, खेतों तक पानी पहुंच नहीं रहा है, फसल से हरियाली रुठ चुकी है मायूस होकर किसान जमीन पर लेट गए।

मंगलवार को सिंहवाहिनी मंदिर में किसानों का आमरण अनशन शुरु हुआ था। मंगलवार पूरा दिन बीत गया, रात बीत गई, बुधवार को सूर्योदय से सूर्यास्त हो गया खबर हर तरफ फैल गई, लोग भी पहुंचे लेकिन जिनके आने की उम्मीद सबसे पहले की जा रही थी वो 32 घंटे तक नहीं आए।

बुधवार को शाम ढली और सूर्यास्त हुआ। किसान ये सोच रहे थे कि जिसने अपने एजेंडे में उन्हें देवता बनाया था उनके दर्शन कब होंगे। घनघोर अंधेरे के बीच से विधायक अमित मंडल किसानों के बीच पहुंचे। ये बताने कि वो सरकार तक उनकी बात पहुंचाएंगे। किसान आमरण अनशन खत्म कर दें। इस भरोसे और आश्वासन में कोई नई बात नहीं है। पहले भी इस दौर से गुजर चुके हैं किसान।

अपने खेतों की हालत देखकर किसान उदास हो चुके हैं। लेकिन जो उदासीनता उन्हें व्यवस्था और उस व्यवस्था में रचे बसे माननीयों की तरफ से मिली है उसने तो उन्हें भीतर तक तोड़ दिया है। एक बार फिर वही आश्वासन दिया जा रहा है जिसके भरोसे अबतक किसान कागजी लड़ाई लड़कर भूख हड़ताल की तरफ बढ़े हैं।

(Visited 36 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *