गोड्डा: बिजली कटौती से परेशान होकर लोगों ने विभाग के दफ्तर में की तोड़फोड़

गोड्डा/झारखंड:  प्रचंड गर्मी में हो रही बेतहाशा बिजली कटौती के सामने जनता का सब्र जवाब दे गया। रोजाना हो रही घंटों की बिजली कटौती से परेशान होकर लोगों ने बिजली विभाग के दफ्तर में तोड़फोड़ की। हंगामा कर रहे लगों ने बिजली विभाग के पदाधिकारियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। जिसके बाद वहां मौजूद सामान को इधर उधर फेंक दिया। बाद में पुलिस मौके पर पहुंचकर बिगड़ते हालात को संभाला।

दरअसल शहर में रोजाना मेंटेनेंस के नाम पर घंटों बिजली कटौती की जाती है। इसे लेकर कई बार विभाग के पास शिकायत भी की गई है। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। बिजली कटौती की ये समस्या हफ्ते या महीने की नहीं है। बल्कि सालों से चली आ रही है। बुधवार को भी सुबह साढ़े नौ बजे से बिजली काट ली गई थी।

शुरुआत में बताया गया था दो घंटे के लिए बिजली काटी जाएगी। लेकिन उसके बाद कहा गया ऊपर से शटडाउन लिया गया है। विभाग की इस लापरवाही के बाद उमस भरी गर्मी में लोगों का सब्र जवाब दे गया। जिसके बाद उपभोक्ता बिजली विभाग के दफ्तर इस कटौती की वजह जानने पहुंचे। लेकिन जब वहां भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला तो हंगामा शुरु हो गया।

साल 2018 में भी बिजली कटौती के खिलाफ आंदोलन किया गया था। जिसमें बच्चू झा ने 52 घंटे का अनशन किया था। गौर करनेवाली बात ये है कि उन 52 घंटों में शहर में 18 से 20 घंटे बीजली की आपूर्ति की गई थी। लेकिन अनशन खत्म होने के कुछ दिन बाद से ही विभाग फिर अपने पुराने रवैये पर लौट आया।

उच्च अधिकारियों की बैठक में भी कई बार ओवरसियर को बिजली की नियमित आपूर्ती की ताकीद की जाती रही है। लेकिन उसका कोई नतीजा नहीं निकला। लोकसभा चुनाव कार्यक्रम शुरु होने से पहले सभी विभागों की बैठक में खुद डीसी किरण कुमारी पासी ने भी बिजली आपूर्ति में सुधार की बात विभाग से कही थी। लेकिन उसके बाद भी विभाग अपने पुराने रवैये को नहीं छोड़ा और घंटों बिजली कटौती जारी रही।

(Visited 185 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *