गोड्डा के सभी प्रखंडों में COVID-19 के टीकाकरण का ड्राइ रन 8 जनवरी को होगा

गोड्डा/झारखंड:  सिविल सर्जन गोड्डा शिव प्रसाद मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के संक्रमण से पूरा विश्व प्रभावित हुआ है। विश्व इस पर विजय प्राप्त करने के बहुत नजदीक है। अपने देश के लिए भी खुशखबरी है कि सिरम इंस्टीट्यूट एवं ICMR के सहयोग से COVAXIN कोविड वैक्सीन डेवलप किया जा चुका है, इसे सभी स्तर पर सुरक्षित पाया गया है एवं COVAXIN द्वारा वैक्सीनेशन की अनुमति मिल गई है।
अगले सप्ताह से देश के सभी जिलों में वैक्सीन पहुंचने एवं वैक्सीनेशन होने की संभावना है। इस संभावना को देखते हुए हमने पूरी तैयारी कर ली है। दिनांक 08 जनवरी को इसका ड्राई रन (Mock Drill) सभी प्रखंडों में किया जाना है।
प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों जैसे: स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक, स्वास्थ्य कर्मी, ANM, GNM, सहिया, सेविका, सहायिका आदि को टीकाकरण किया जाना है। इसके पश्चात उसे इस वैक्सीन का 2nd डोज दिया जाना है। दूसरी डोज 28 दिनों के अंतराल पर दिया जायेगा।
प्रथम चरण में: Beneficiary -5317, Vaccinator- 379, supervisor- 67
स्वास्थ्य विभाग द्वारा पूर्व में निबंधित लाभार्थी को ही टीका लगेगा। प्रतिरक्षण स्थल पर निबंधन नहीं किया जाएगा। Vaccinator एवं supervisor को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। सारे Beneficiary Pre रजिस्टर्ड है। माइक्रो प्लान के अनुसार Beneficiary के मोबाइल पर स्थल, तिथि एवं समय के अनुसार मैसेज आएगा।
वैक्सीनेशन ऑफिसर – 1- मैसेज एवं फोटो पहचान पत्र देखकर covin केंद्र में प्रवेश देगा।
वैक्सीनेशन ऑफिसर – 2- आईडी वेरीफिकेशन कर वेटिंग हॉल में टीका लगाने हेतु प्रतीक्षा करने को कहा जाएगा। उनकी बारी आने पर उसे टीका लगेगा, तथा ऑब्जरवेशन रूम में 30 मिनट तक प्रतीक्षा करने को कहा जाएगा, ताकि कोई विपरीत प्रभाव अगर दिखे तो तत्क्षण उसका निराकरण किया जा सके।
वैक्सीनेशन ऑफिसर – 3 उसकी देखरेख करेंगे।
वैक्सीनेशन ऑफिसर – 4- Mobilizer/ सपोर्ट स्टाफ का कार्य करेंगे।
30 मिनट तक ऑब्जरवेशन रूम में प्रतीक्षा करने के पश्चात उसे अपने कार्य पर वापस जाने की स्वीकृति दे दी जाएगी। ये कार्यक्रम जिले के वरीय पदाधिकारी के देखरेख में संचालित किया जाएगा। सुरक्षा की भी पर्याप्त व्यवस्था रहेगी।
किसी भी तरह के अफवाह से बचने की सलाह दी जाती है। यह वैक्सीन पूर्ण रूप से सुरक्षित है। इसका रख-रखाव भी अन्य वैक्सीन की तरह 2°- 8℃ पर किया जाना है। पूरे कार्यक्रम के अंतर्गत वैक्सीन प्रोडक्शन से डिस्ट्रीब्यूशन, स्थल तक, ट्रांसपोर्टेशन – वैक्सीनेशन तक  Temperature maintain किया जायेगा।
एक सप्ताह पूर्व तक कोविड संक्रमित से मुक्त हो चुके व्यक्ति को भी टीका लगाया जा सकेगा।
टीकाकरण के बाद भी सभी प्रोटोकॉल का पालन करना आवश्यक होगा। जैसे: हाथ धोना, दो गज की सामाजिक दूरी का पालन, मास्क, सैनिटाइजर का उपयोग।
(Visited 32 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *