गोड्डा: तीन साल में ही गिर गया भ्रष्टाचार का पुल, सांसद बोले ‘कमीशन-गुंडागर्दी का नतीजा है’ Video

गोड्डा/झारखंड: नदी के दो छोर को जोड़नेवाली पुल की उम्र महज तीन साल निकली। केवल तीन साल पहले ही मोटी रकम खर्च कर बनाए गए पुल ने रविवार की रात दम तोड़ दिया। इस पुल को पूर्व विधायक संजय यादव के वक्त बनाया गया था जो अब जमीन में दफ्न हो चुका है। ये पुल कोरका-पकड़िया के बीच बना था। लोगों की चप्पल भी अभी सही तरीके से इस पुल पर चलने से घिसी नहीं थी उससे पहले ही पुल ने जवाब दे दिया और जमीन में दफ्न हो गया।

राहत की बात ये रही कि इस हादसे में किसी को ज्यादा चोट नहीं आई। जिस वक्त हादसा हुआ तब पुल के ऊपर से दो ट्रक गुजर रहे थे। दोनों ट्रक पुल के टूटने की वजह से बीच में ही फंस गए। केवल तीन साल पहले ही इस पुल का निर्माण किया गया था। जिस तरह से पुल ध्वस्त हुआ है उसके बाद ये कहने में कोई हर्ज नहीं है कि इसके निर्माण में बेहद ही घटिया सामान का इस्तेमाल किया गया था।

इस पुल का निर्माण पूर्व विधायक संजय यादव के भाई वकील यादव की देखरेख में हुआ था। मतलब वकील यादव ही पुल के निर्माणकर्ता थे। पुल को तैयार करने वाली कंपनी पर मौजूदा सांसद निशिकांत दूबे ने भी निशाना साधा है।

निशिकांत दूबे ने अपने फेसबुक पोस्ट पर लिखा है यह है गोड्डा जिले के विधायक यादव बंधुओं, यह है गोड्डा कमीशन और गुंडागर्दी का खूबसूरत नमूना। गोड्डा के पूर्व विधायक संजय यादव जी के भाई वकील यादव की पत्नी दिव्या कंस्ट्रक्शन का काम। गोड्डा जिला अन्तर्गत पथरगामा प्रखंड के कोरका-पकड़िया के बीच तीन साल पूर्व बना पुल आज ध्वस्त हो गया। जिसमें एक हाईवा भी फंस गया है। मेरे शिकायत के बाद सबकुछ मैनेज हो गया व इंजीनियर का प्रमोशन हो गया।

(Visited 80 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *