गोड्डा: किताबें जीवन की सर्चलाइट होती हैं: न्यायमूर्ति शिवपाल

गोड्डा/झारखंड:  किताबें जीवन की सर्चलाइट होती हैं। रामचरितमानस विश्व की सर्वश्रेष्ठ साहित्य है। रामचरितमानस पर चलने वाले से भूल हो ही नहीं सकती। साहित्य के संदेशों को जीवन में उतारें। उक्त आशय की बातें मंगलवार शाम द्वितीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री शिवपाल सिंह ने पुस्तक लोकार्पण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि अपने सम्बोधन में कही।
स्थानीय विद्यापति भवन में गांधी- शास्त्री जयंती पर लोकमंच द्वारा आयोजित उक्त समारोह में अखिल भारतीय कर्मचारी महासंघ के सचिव मंजुल कुमार दास द्वारा उनके कनाडा यात्रा संस्मरण और नेताजी सुभाष चन्द्र बोस पर उनके भाषण पर आधारित पुस्तक का लोकार्पण किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अधिवक्ता रविशंकर झा ने तथा संचालन जलेस के सचिव सुरजीत झा ने किया।
स्वागत सम्बोधन व विषय प्रवेश लोकमंच सचिव सर्वजीत झा ने किया। इस अवसर पर सीटू बिहार के सचिव शंकर साह, प्रो. डॉ. श्यामाकांत झा, पूर्व नगर अध्यक्ष अजीत कुमार सिंह, साहित्यकार शिवकुमार, कामरेड अरुण सहाय, कामरेड उमेश चन्द्र मिश्रा, जिला अधिवक्ता संघ के सचिव योगेश चन्द्र झा व पूर्व अध्यक्ष देवेंद्र सिंह, अधिवक्ता रतन दत्ता, दिलीप तिवारी, रामानंद गुप्ता व अनन्त नारायण दुबे, ज्ञानस्थली के निदेशक समीर कुमार दुबे, डॉन बोस्को के निदेशक अमित राय, सर्वोच्च न्यायालय के युवा अधिवक्ता राहुल दत्ता, विद्यापति सांस्कृतिक परिषद के सचिव माधव चन्द्र चौधरी, सुनील कुमार झा, अमरनाथ पाठक, समाजसेवी सौरभ परासर उर्फ बच्चू झा, साहित्यकार रजनीकांत तिवारी, कवि धनेश्वर पंडित व नवीन ठाकुर सन्धि ने बापू एवं शास्त्री जी पर अपने सम्बोधन के पश्चात मंजूल दास जी के पुस्तक पर प्रकाश डाला।
साहित्यकार शिवकुमार ने उनकी रचना को बेमिसाल प्रयास बताते हुए एक इस्पाती दस्तावेज की संज्ञा दी। उन्होंने उक्त पुस्तक का वितरण विद्यालयों में करने की सलाह दी। क्योंकि इस पुस्तक में इतिहास और वर्तमान के साथ साथ राष्ट्रवाद को भी पुरजोर तरीक़े से स्थापित किया गया है। अंत में पिछले दिनों दिवंगत साहित्यकार व पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी, वाजपेयी, कवि गोपाल दास नीरज, केदारनाथ सिंह, विष्णु खरे एवं देवताले जी को श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर मृत्युंजय झा, अमरेंद्र सिंह बिट्टु, हरिशंकर मिश्रा, रजक जी एवं पंकज झा सहित अनेक समाजसेवी मौजूद थे।
(Visited 27 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *