गोड्डा: बर्ड फ्लू वाले क्षेत्रों में मुर्गी, बत्तख, कबूतरों को मारकर दफन किया जाएगा, बदले में मिलेगा मुआवजा

मेहरमा/गोड्डा : मेहरमा मे बुधवार को आपातकालीन उपस्थिति में बर्डफ्लू को लेकर दिल्ली से आई टीम की एक आवश्यक बैठक की गई । बैठक में टीम गठित कर बर्ड फ्लू प्रभावित क्षेत्र मे मीटिंग कर लोगो को जागरूक करने का कार्य किया जायेगा। डॉक्टर दीपांकर विश्वास पशुपालन गवर्नमेंट ऑफ कोलकाता व सिविल सर्जन रामदेव पासवान की अध्यक्षता में बैठक की गई।

बैठक में टीम गठित कर दिन शुक्रवार से बर्ड फ्लू से प्रभावित क्षेत्र फाजीलखुटेरी के तीन किलो मिटर के अंदर घूम घूम कर मीटिंग कर लोगों को जागरूक करते हुए मुर्गी, बतख, कबूतर मार कर दफन करने की बात कही गई। वहीं डॉ विश्वास के द्वारा बताया गया कि ग्रामीणों को घबराने, डरने की बात नहीं है। अभी तक किसी भी व्यक्ति मे बर्ड फ्लू का पॉजिटिव या लक्षण नहीं पाया गया है। अगर ऐसा भविष्य में किसी को भी बर्ड फ्लू का लक्षण दिखाई दे तो वह स्थानीय समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मेहरमा में असुलेशन वार्ड बना दिया गया है। जिसमें दवाई की भी व्यवस्था व डॉक्टर 24 घंटे रहने की बात बताई गई।

वहीं गांव में मुर्गी मारने को वह दफन करने को लेकर पशु पालने वाले व्यक्तियों को मुर्गी, बत्तख, वह कबूतर के मुआवजा भी दिया जाएगा जिसमें विभाग के द्वारा मिलने वाली मुआवजा की राशि मुर्गी का ₹70 बत्तख का ₹135 वह कबूतर का ₹70 अंडा का ₹3 प्रति पीस दिया जाएगा वहीं बर्ड फ्लू की जानकारी राज सरकार को जानकारी होने कि बात बताई। बैठक में उपस्थित डाक्टर मृत्युंजय कुमार स्थानीय शोध पदाधिकारी पशु स्वास्थ्य एवं उत्पाद विभाग, डॉक्टर अशोक कुमार शोध पदाधिकारी पशु स्वास्थ्य एवं उत्पाद विभाग, डॉक्टर आलोक कुमार ,शोध पदाधिकारी पशु स्वास्थ्य एवं उत्पाद विभाग, अनुमंडल पदाधिकारी बंका राम, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी राजा मित्रा, प्रखंड विकास पदाधिकारी सुरेंद्र उरांव, अंचलाधिकारी खगेन महतो, थाना प्रभारी जैनुल आबेदीन, विभिन्न पंचायतों के मुखिया एवं वार्ड सदस्य उपस्थित रहे वर्ल्ड फ्लू से संबंधित मेहरमा प्रखंड के बरारी, शोभापुर, सुखारी, फाजिलखुटेरी आदि गांव में कौआ पक्षियों की मरने व मुर्गी बतख की अपने आप मर जाने कि खबर पर पशुपालन विभाग स्वास्थ चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा स्थानीय गाँव जाकर जाँच कर मुर्गी बत्तख के खुन पाखाना की सैम्पल लेकर जाँच मे भेजा गया था। सैम्पल कि जाँच के बाद बर्डफ्लू पोजिटिव होने की जांच पायी गयी थी।

भारत सरकार के द्वारा गंभीरता से लेते हुए टीम गठित कर अलग अलग टीम के द्वारा दुबारा आकर जाँच किया गया था बर्ड फ्लू पोजिटिव होने की रिपोर्ट मिलने। जिसे कल दिन शुक्रवार को बर्ड फ्लू से प्रभावित क्षेत्र फाजीलखुटेरी के तीन किलो मिटर तक मुर्गी बतख कबूतरों को मारने व दफन करने का निर्देश दिया गया ।

(Visited 61 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *