गोड्डा: सांड ने किये पांच कत्ल, घर से निकलने में डर रहे हैं लोग

गोड्डा: सांड ने किये पांच कत्ल, घर से निकलने में डर रहे हैं लोग

गोड्डा/ झारखंड:  गोड्डा जिला मुख्यालय से तकरीबन 12 किलोमीटर दूर लुकलुकी और पचरूखी के लोग इन दिनों घरों से बाहर निकलने में डरने लगे हैं। उनकी डर की वजह बना है सांड। जिसने अबतक पांच लोगों की जान ले ली है। यही नहीं कई लोगों को अबतक इस  सांड ने घायल भी कर दिया है। हालात ये है कि इलाके के लोग किसी तरह इस सांड से छुटकारा चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने अपनी आवाज जिला प्रशासन तक भी पहुंचाई है। अब इंतजार इस बात का है कि कब प्रशासन इस बेकाबू सांड को काबू में करता है।

पचरुखी पंचायत अंतर्गत लुकलुकी गांव निवासी और जिला पेंशनर समाज के अध्यक्ष 82 वर्षीय श्यामकांत ठाकुर को सोमवार सुबह सांड ने मार कर घायल कर दिया। वे सुबह साढ़े छह बजे के करीब घर के बाहर खड़े थे, जब ये घटना घटी। उन्हें पैर व कंधे में चोटें आईं। इससे एक दिन पहले रविवार को लुकलुकी निवासी भोली साह को भी इसी सांड ने मारा था।

करीब दो महीने पहले इसी सांड के मारने से लुकलुकी के ही नारायण साह की मृत्यु हो गई थी। ग्रामीणों के मुताबिक यह सांड मंजवारा व पचरुखी पंचायत के कई गांवों में अब दहशत का सबब बन चुका है और अब तक लुकलुकी, डुमरिया व कुराबा में कुल 5 लोगों की जानें ले चुका है और कई लोगों को घायल कर चुका है।

यह सांड किसानों के लिए भी परेशानी का सबब है और लोगों की फसलें बर्बाद करता है। ग्रामीण मणिकांत ठाकुर, कलानंद ठाकुर, फणिकांत ठाकुर, नरेंद्र ठाकुर, जीवेश ठाकुर, विकास ठाकुर, निर्मल मिश्र, उमर अली, लखन मंडल, गोलू यादव, शशिनाथ झा आदि ने इस खबर के माध्यम से प्रशासन से अपील की है कि अविलंब इसे आबादी क्षेत्र से हटवाकर कहीं दूर किसी जंगली इलाके में छोड़ दिया जाए, जिससे ये सांड और किसी के लिए परेशानी का कारण न बने।

ग्रामीण कुंदन कुमार ठाकुर ने कहा कि मौखिक रूप से इस सांड के बारे में डीएफओ को भी सूचित किया जा चुका है और उम्मीद है कि प्रशासन शीघ्र कार्रवाई करेगा। वहीं ग्रामीण सिद्धार्थ ने कहा कि अब लोगों व खासकर बच्चों को गांव में भी निकलने में डर लगने लगा है।

Loading...