गोड्डा: माली मौजा के दो रैयत अडाणी पावर प्लांट के लिए बने सिरदर्द

गोड्डा/झारखंड:  गोड्डा में लग रही अडानी थर्मल पॉवर प्लांट के लिए की जा रही भूमि अधिग्रहण का काम लगभग पूरा किया जा चुका है। हालांकि अधिकतर किसान राजी-खुशी से अपनी जमीन सरकार को देकर मुआवजे की राशि ले भी चुके हैं। लेकिन पोडैयाहाट प्रखंड के माली मौजा के दो किसानों को जमीन देने के लिए राजी कर पाना कंपनी के लिए मुश्किल साबित हो रहा है। हलांकि नियम के मुताबिक जमीन अधिग्रहण के लिए 80 फीसदी रैयतों की रजामंदी जरुरी होती है, जबकि अबतक अलग-अलग मौजा में 96 फीदसी से ज्यादा रैयत अपनी जमीन दे चुके हैं और उन्हें मुआवजा भी मिल चुका है।
लेकिन माली मौजा के दो रैयत मुआवजे की राशि लेने से इनकार कर रहे हैं। शनिवार को पोड़ैयाहाट के अंचलाधिकारी विजय कुमार और थाना प्रभारी सुशील झा किसानों के घर पहुंचे। अंचलाधिकारी ने उन किसानों को अविलंब मुआवजे की राशि लेने के लिए भूअर्जन कार्यालय से संपर्क करने को कहा है।
दरअसल माली मौजा के दो किसान मैनेजर हेमब्रम और तालामय मुर्मू ने अब तक मुआवजे की राशि नहीं ली है। माली गांव में पहुंचे अंचलाधिकारी विजय कुमार ने इन दोनों परिवारों के तमाम सदस्यों को कागजात दिखाते हुए आधिकारिक तौर पर सूचना देते हुए समझाया कि जमीन अधिग्रहण पूरी तरह नियम के मुताबिक किया गया है और लगभग सभी किसानों ने जमीन अधिग्रहण के एवज में सरकार द्वारा तय रकम भी ले ली है।
अंचलाधिकारी ने पूरे गांव वालों के सामने जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पर विस्तार से चर्चा करते हुए ये भी बताया कि सरकार की तरफ से अधिग्रहण के तमाम नियमों का पालन किया गया है। उन्होंने कहा कि नियम के मुताबिक जिन किसानों की जमीन अधिग्रहित की जानी है उन्हें बार-बार नोटिस देकर और जन सुनवाई के जरिए पूरी जानकारी भी दी गई है, ऐसे में जमीन अधिग्रहण की जानकारी नहीं होने का सवाल ही नहीं उठता है।
अंचलाधिकारी के मुताबिक 80 प्रतिशत से भी ज्यादा किसानों की समहति के बाद ही जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू की गई थी और जन सुनवाई से लेकर नोटिफिकेशन के दौरान भी उनकी जानकारी में ऐसा कोई मामला नहीं था जिससे ये पता चलता हो कि किसानों को अपनी जमीन देने में किसी तरह का कोई ऐतराज है।
शनिवार को जब अंचलाधिकारी माली गांव पहुंचे तो उनके साथ बक्सरा पंचायत के मुखिया हेमंत कुमार, पंचायत समिति सदस्य रमन मंडल, माली मौजा के प्रधान जय प्रकाश मंडल, स्थानीय ग्रामीण प्रह्लाद शर्मा, विभूति मंडल आदि मौजूद थे। दूसरी ओर माली गांव के तमाम निवासियों के साथ मैनेजर हेम्ब्रम, तालामय मुर्मू और उनके परिवार के सदस्य अनिल हेम्ब्रम, मुंशी हेम्ब्रम, बब्लू हेम्ब्रम आदि मौजूद थे।
(Visited 50 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *