गोड्डा: अडाणी पावर प्लांट के लिए माली मौजा के 92 फीसदी रैयतों की कागजी प्रक्रिया पूरी

गोड्डा/झारखंड:  1600 मेगावाट के अडाणी पावर प्लांट के लिए चल रहे भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया अब और आगे बढ़ गई है। सिकटिया स्थित आईटीआई में बनाए गए पांच दिनों के विशेष कैंप के आखिरी दिन पोड़ैयाहाट अंचल के माली मौजा के लगभग 92 फीसदी रैयतों ने मुआवजा लेने के लिए कागजी प्रक्रिया पूरी कर ली। माली मौजा की 166.40 एकड़ जमीन अडाणी पावर प्लांट एरिया के लिए अधिग्रहित की जानी है।

शुक्रवार को राधिका प्रसाद साह, छेदी साह, प्रदीप साह, पंकज चंद्र झा, अजय झा, लक्ष्मीकांत रजक, फूलचंद मांझी, प्रह्लाद साह, शैलेंद्र साह, रविशंकर कुमार, चंद्रशेखर कुमार समेत कुल 21 रैयतों ने कागजी प्रक्रिया पूरी कर ली। अब इन रैयतों को भी आरटीजीएस के माध्यम से उनके खातों में मुआवजा भुगतान कर दिया जाएगा। रैयतों के मुताबिक इतने कम समय में इतने रैयतों द्वारा मुआवजा लेने की प्रक्रिया पूरी करने से यह भी साफ हो गया है कि ज्यादातर रैयतों ने अपनी खुशी से जमीन इस पावर प्लांट के लिए दी है। इस कैंप के बाद भी जो रैयत बच गए हैं, वे भू अर्जन विभाग में जाकर कागजी प्रक्रिया पूरी कर सकेंगे।

गौरतलब है कि इसके पहले गोड्डा अंचल के मोतिया, पटवा व गंगटा मौजा की लगभग 350 एकड़ जमीन की दखल दिहानी मुआवजा भुगतान की प्रक्रिया के बाद कंपनी को दी जा चुकी है। पोड़ैयाहाट अंचल के ही सोनडीहा व गायघाट मौजा की जमीन की भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया अभी जारी है। गौरतलब है कि इस विशेष शिविर में अतिरिक्त जिला भू अर्जन पदाधिकारी पवन कुमार की देखरेख में भू अर्जन विभाग व पोड़ैयाहाट अंचल के कर्मचारियों ने पांच दिनों तक कैंप का सफल संचालन किया व रैयतों की कागजी प्रक्रिया पूरी करवाई।

Loading...