गोड्डा: अडाणी पावर प्लांट के लिए रेलवे साइडिंग निर्माण में रैयतों ने जताई सहमति, Video

गोड्डा/झारखंड:  गोड्डा में प्रस्तावित 1600 मेगावाट के अडाणी पावर प्लांट परियोजना के हेतु रेलवे लाइन साइडिंग निर्माण परियोजना के लिए सामाजिक प्रभाव के मूल्यांकन का कार्य गुरुवार को सफलता पूर्वक संपन्न हो गया। गोड्डा अंचल के कारीकादो, नयाबाद, कौड़ीबहियार, गोढ़ीघाट व कानाडीह के लिए कौड़ीबहियार में जनसुनवाई की गई तो वहीं पोड़ैयाहाट अंचल के गुम्मा के लिए बेलबरना में जनसुनवाई का कार्य संपन्न किया गया।

दोनों ही जगहों पर रैयतों ने एक स्वर में इस परियोजना के लिए जमीन देने पर सहमति जताई। कौड़ीबहियार में आहुत जनसुनवाई में डीआरडीए निदेशक अरुण कुमार एक्का, भूमि सुधार उपसमाहर्ता पवन कुमार व अंचलाधिकारी, गोड्डा प्रदीप कुमार शुक्ला प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। इसके अलावा बेलबरना में हुई जन सुनवाई में अपर समाहर्ता अनिल कुमार तिर्की, जिला भू अर्जन पदाधिकारी राहुल जी आनंद जी व अंचलाधिकारी, पोड़ैयाहाट विजय कुमार प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

सामाजिक प्रभाव मूल्यांकन के लिए तैनात एजेंसी बैद्यनाथ फाउंडेशन के प्रतिनिधि भी दोनों जगहों पर मौजूद थे। जनसुनवाई में सरकारी अधिकारियों ने रैयतों को इस परियोजना की जानकारी दी। पवन कुमार ने बताया कि गोड्डा के मोतिया, पटवा व गंगटा मौजा की जमीन का दखल दिहानी अडाणी कंपनी को दे दिया गया है व पोड़ैयाहाट के माली मौजा की जमीन का अधिग्रहण अपने अंतिम चरण में है। उन्होंने बताया कि इस परियोजना में आवासीय भूमि का विस्थापन नहीं हो रहा है। भू-अर्जन की मुआवजा राशि सरकारी दर से चारगुणा करके मिलेगा।

बताया गया कि इस रेलवे लाइन साइडिंग निर्माण परियोजना में मोतिया पंचायत के कारीकादो, नयाबाद ,पैरडीह पंचायत के कौड़ीबहियार माल छिंट, कौड़ीबहियार घाट, कौड़ीबहियार माल, गोढ़ीघाट व कानाडीह, देवबंधा पंचायत के गुम्मा की कुल 93.161 एकड़ जमीन अधिग्रहित होनी है। इसके बाद रैयतों से उनकी राय पूछी गई। रैयतों ने एक-एककर अपनी बात रखी।

बेलबरना की सभा में गुम्मा के रैयत दिनेश किस्कू ने कहा कि हम सब जमीन देने को तैयार हैं कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन उचित मुआवजा मिलना चाहिए। गुम्मा की रूबी देवी ने कहा कि इस प्रोजेक्ट को लेकर खुशी और समर्थन दोनों है, हमारी मांग है कि बेरोजगार नवयुवकों को रोजगार मिले। देवबंधा पंचायत के मुखिया शशि विश्वास ने कहा कि सभी रैयत व किसान तैयार हैं। सरकार उचित मुआवजा तय करे व पंचायत में सीएसआर के तहत जो विकास कार्य हो रहे हैं, वे जारी रहें। गुम्मा के निर्भय झा ने कहा कि समीपवर्त गांव मोतिया में जिस दर से मुआवजा दिया गया है, उसी दर से मुआवजा मिले।

कौड़बहियार की सभा में कारीकादो के रैयत निशिकांत चौधरी ने कहा कि हम सब विकास के पक्षधर हैं और इसलिए जमीन देना चाहते हैं। मुखिया मीरा देवी व उनके पति रामकृष्ण दास ने कहा कि पूरी प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से चले, लोग जमीन देने को सहर्ष तैयार हैं। रैयत बिरेंद्र कुमार ने कहा कि हमलोग स्वेच्छा से जमीन देने को तैयार हैं। गोढ़ीघाट व कानाडीह के रैयत राजीव कुमार ने कहा कि हमलोग खुशी खुशी जमीन देना चाहते हैं। मोतिया मौजा के देवव्रत नारायण झा ने कुछ जानकारी चाही और कहा कि हमारा समर्थन है। कौड़ीबहियार मौजा की रिंकू भारती ने कहा कि जमीन अधिग्रहण पारदर्शी तरीके से हो व समान दर से मिले। दोनों जगहों पर बुलाई गई बैठकों में रैयत बड़ी संख्या में मौजूद रहे।

(Visited 30 times, 1 visits today)
loading...