गोड्डा: अडाणी फाउंडेशन के सहयोग से 150 स्कूलों में शुरु होगा स्वच्छाग्रह कार्यक्रम

गोड्डा/झारखंड:स्वछता की संस्कृति को बढ़ावा देने के उद्देश्य से देश के 17 राज्यो में अडानी फाउंडेशन द्वारा चलाए जा रहे स्वच्छाग्रह कार्यक्रम को अब शिक्षा विभाग के सहयोग से गोड्डा व पोड़ैयाहाट प्रखंड के सभी स्कूलों में चलाया जायेगा। शनिवार को स्थानीय वृन्दावन रिसोर्ट में अडानी फाउंडेशन की ओर से शिक्षकों के लिए एक कार्यशाला आयोजि की गयी।

कार्यशाला का उद्घाटन जिला शिक्षा पदाधिकारी एसडी तिग्गा,जिला शिक्षा   अधीक्षक जितेंद्र कुमार सिन्हा,जिला शिक्षा परियोजना पदाधिकारी शंभू दत्त मिश्र, पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष अजित कुमार सिंह व शिक्षाविद ममता कुमारी ने संयुक्त रूप से पौधे में पानी डालकर किया।

इस मौके पर श्री तिग्गा ने अडाणी फाउंडेशन के इस अनोखे प्रयास की सराहना की। उन्होंने स्वच्छता का विस्तृत अर्थ भी समझाया। जितेंद्र कुमार सिन्हा ने कहा कि स्कूलों में स्वच्छाग्रह की शुरुआत करना एक बढ़िया कदम है। शम्भू दत्त मिश्र ने गीत के माध्यम से स्वच्छता का महत्व बताया और शिक्षकों से अनुरोध किया कि सोमवार से सभी विद्यालय स्वच्छाग्रही बन जाएं।

अजित सिंह ने कहा कि अडाणी फाउंडेशन कई बढ़िया कार्य कर रहा है। ये कदम आज छोटे लग रहे हैं, पर कल इनका बहुत व्यापक रूप से सकारात्मक असर होगा। ममता कुमारी ने कहा कि स्वच्छाग्रह को वे अपने विद्यालय में भी लागू करेंगी।

कार्यशाला में बड़ी संख्या में शिक्षक मौजूद थे और उन्होंने भी इस अभियान की तारीफ की। ट्रेनिंग के लिए अडाणी फाउंडेशन के अहमदाबाद स्थित मुख्यालय से आए जिगनेश विभांडिक ने बताया गया कि स्वच्छाग्रह अभियान के तहत शिक्षक प्रेरक का काम करेंगे। प्रेरक के तौर पर ये 20 बच्चों का एक दल तैयार करेंगे जो स्वच्छाग्रही के तौर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक बनाएंगे।गोड्डा में इस अभियान की शुरुवात साल जिला मुख्यालय से की गयी थी।

अडाणी फाउंडेशन की तरफ से बताया गया कि जब बच्चे स्वच्छाग्रही बनेंगे तो वे दूसरों को भी गंदगी फैलाने से रोकेंगे। अब तक देशभर के 3000 स्कूलों में यह अभियान सफलता पूर्वक चल रहा है।

इस अभियान का मकसद लोगों कोस्वच्छता के प्रति जागरुक बनाना व उनमें साफ-सफाई की आदत डालना है। इसके लिए बकायदा एक थीम सॉन्गभी तैयार किया गया है,जिसमें बापू के सपने को यादकरते हुए बतायाजाता है कि आज के समाज को गंदगी से आजादी की जरूरत है।माली पलगंजिया स्कूल के शिक्षक गुणानंद को भी सम्मानित किया गया। उनके स्कूल को स्वच्छता के लिए पहले भी अवार्ड मिल चुका है।

Loading...

Leave a Reply