गोड्डा: दो बच्चों की निर्मम हत्या, नहर किनारे मिला क्षत-विक्षत शव

गोड्डा/झारखंड:  शहर के बढ़ौना में रहनेवाले दो बच्चों (करण और आनंद) की निर्मम हत्या से लोग खौफ में हैं। दोनों बच्चों का क्षत विक्षत शव बड़हरा में नहर के किनारे पड़ा मिला। दोनों बच्चों के शरीर पर चाकू से कई वार किये गए हैं। उनके शरीर के कई अंगों को भी काटा गया है। बच्चों की आंखें को भी बुरी तरह से नुकसान पहुंचाया गया है।

दोनों बच्चों की उम्र 7-9 साल के बीच की है। परिजनों के मुताबिक दोनों बच्चे बुधवार को स्कूल से आने के बाद दोपहर 12 बजे से लापता थे। दिनभर घरवालों ने बच्चों को ढूंढने की कोशिश की। लेकिन जब शाम तक वो घर वापस नहीं आए तो परिजनों ने रात के तकरीबन 8 बजे पुलिस में इसकी शिकायत की। दोनों बच्चे अलग-अलग परिवार के हैं।

लेकिन गुरुवार सुबह परिवार को पता चला कि उनके बच्चों का शव नहर किनारे पड़ा मिला है। इस खबर को सुनकर परिजन सन्न रह गए। मौके पर पहुंचकर जब उन्होंने उनके शव को देखा तो पहली नजर में उन्हें पहचान पाना भी मुश्किल था। क्योंकि शरीर को बुरी तरह से गोद दिया गया था। हलांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद मौत की असली वजह सामने आएगी।

वारदात की जानकारी मिलने के बाद पुलिस के आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। परिजनों ने मामले की जांच में खोजी कुत्ता को लाने की मांग की। जिसके बाद दुमका से डॉग स्क्वॉड मंगवाया जा रहा है। विधायक अमित मंडल ने भी दोनों बच्चों के परिजनों से मुलाकात दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिया।

जिस जगह पर बच्चों का शव मिला है वहां पर चारो तरफ खेत है। आने जाने का कोई रास्ता नहीं है। लोग ये भी शक जता रहे हैं कि बच्चों की हत्या कहीं और की गई है और उनके शव को यहां लाकर फेंक दिया गया है।

आसपास के लोगों का कहना है कि परिवार से किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। जिस तरह से दोनों बच्चों की हत्या की गई है उससे किसी को ये समझ नहीं आ रहा है कि आखिर इसके पीछे किसका हाथ हो सकता है।

(Visited 32 times, 1 visits today)
loading...