देवघर में इस साल श्रावणी मेला और कांवड़ यात्रा नहीं होगी, ऑन लाइन होंगे दर्शन

रांची/झारखंड:  झारखंड हाईकोर्ट ने देवघर श्रावणी मेले पर अपना फैसला सुना दिया है। हाईकोर्ट ने अपने फैसले में साफ किया है कि इस साल देवघर में श्रावणी मेला नहीं लगेगा साथ ही कहा कि इस साल कांवड़ यात्रा भी नहीं होगी। इसकी जगह पर भक्तों को ऑन लाइन बाबा के दर्शन की सुविधा मुहैया कराए राज्य सरकार। गोड्डा लोकसभा से सांसद निशिकांत दुबे ने हाईकोर्ट से श्रावणी मेले और कांवड़ यात्रा को शर्तों के साथ करवाने के लिए याचिका दी थी। जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया।

अदालत में झारखंड सरकार के सचिव अमिताभ कौशल ने कहा कि सरकार ने ऐसे किसी धार्मिक स्थल या संस्था को नहीं खोला है जिससे कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा हो। कोर्ट ने इस बात पर नाराजगी भी जताई कि जब मामला कोर्ट में विचाराधीन है तो फिर सीएम हेमंत सोरेन को इसे लेकर मीडिया में बयानबाजी नहीं करनी चाहिए।

मामले की सुनवाई कर रहे जज ने कहा कि 31 जुलाई तक किसी भी तरह के धार्मिक आयोजन की इजाजत नहीं दी गई है। बिहार, हरिद्वार, उत्तर प्रदेश कहीं भी कांवड़ यात्रा की अनुमति नहीं दी गई है।

कोर्ट के इस आदेश के बाद अब सावन के पहले दिन से भक्तों को बाबा के ऑन लाइन दर्शन की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। लेकिन इस साल कांवड़ यात्रा या सावन मेले का आयोजन नहीं होगा।

(Visited 38 times, 1 visits today)
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *